इस्लामाबाद : पाकिस्तान ने रविवार को घोषणा की है कि दो सितंबर को कुलभूषण जाधव को राजनयिक पहुंच मुहैया कराई जायेगी। विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा कि जाधव (49) को ‘‘राजनयिक संबंधों पर वियना कन्वेंशन, अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत (आईसीजे) के फैसले और पाकिस्तान के कानूनों के अनुरूप'' राजनयिक पहुंच उपलब्ध कराई जा रही है।

भारतीय नौसेना के सेवानिवृत्त अधिकारी को पाकिस्तान में जासूसी के आरोप में मौत की सजा सुनाई गई है। भारत का कहना है कि जाधव का ईरान से अपहरण किया गया था जहां वह नौसेना से सेवानिवृत्त होने के बाद व्यापारिक उद्देश्य से गये थे और उन पर गलत आरोप लगाये गये हैं।

ता दें कि भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव से जुड़े मामले में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस ने हाल ही में अपना फैसला सुनाया है। इंटरनेशनल कोर्ट ने उनकी फांसी पर रोक लगा दी थी। भारत के हक में फैसला सुनाते हुए इंटरनेशनल कोर्ट ने जाधव को कॉन्‍स्‍यूलर एक्‍सेस देने का आदेश भी दिया था। कोर्ट के इस फैसले पर पाकिस्तान ने ऐतराज जताया था, लेकिन आईसीजे ने इसे खारिज कर दिया था।

इसे भी पढ़ें पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय का बयान,कुलभूषण जाधव को मिलेगा ‘कॉन्सुलर एक्सेस’

अंतरराष्ट्रीय कोर्ट ने कहा था कि पाकिस्तान को अपने फैसले (सजा-ए-मौत) की फिर से समीक्षा करनी चाहिए। नीदरलैंड में द हेग के 'पीस पैलेस' में सार्वजनिक सुनवाई हुई थी, जिसमें अदालत के प्रमुख न्यायाधीश अब्दुलकावी अहमद यूसुफ मे फैसला पढ़कर सुनाया था। 16 में से 15 जज, भारत के हक में थे।