नई दिल्ली : पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भारतीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के परमाणु नीति संबंधित बयान की निंदा की है और इसे 'हिंसा को आतुर भारत की घातक चेतावनी' करार दिया है।

उल्लेखनीय है कि राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को पोखरण में कहा था कि भारत परमाणु हथियारों के 'पहले इस्तेमाल नहीं' करने की नीति पर दृढ़ रहा है, लेकिन भविष्य में क्या होगा यह परिस्थितियों पर निर्भर करेगा।

इस टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए कुरैशी ने ट्वीट किया, "हिंसा के लिए भारत की आतुरता की एक और घातक चेतावनी। पाकिस्तान के आक्रामक कूटनीति प्रयासों के ठीक विपरीत। जैसा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने 1965 के बाद पहली बार औपचारिक रूप से भारत अधिकृत कश्मीर पर अंतर्राष्ट्रीय विवाद की स्थिति को मानने के लिए बैठक की है। इतिहास गवाह रहा है कि जंग भड़काने वाले फासीवादी देश कभी नहीं जीत सकते हैं।"

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने इससे पहले राजनाथ सिंह की टिप्पणी को 'चौंकाने वाला और गैर जिम्मेदाराना' कहा था।

इसे भी पढ़ें

कश्मीर मुद्दे पर सुरक्षा परिषद की बैठक में पाकिस्तान की ‘किरकिरी’, सिर्फ चीन का मिला साथ

उन्होंने कहा, "भारतीय रक्षामंत्री के बयान का मतलब और समय बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है और भारत के गैर-जिम्मेदार और अशिष्ट व्यवहार को दिखाता है। यह उनकी 'पहले इस्तेमाल नहीं करने' के ढोंग को उजागर करता है, जिसके लिए हमें कभी कोई भरोसा नहीं मिला है।"

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने हमेशा दक्षिण एशिया में परमाणु संयम से संबंधित उपायों का प्रस्ताव दिया है और ऐसे कदम से दूर रहा है, जो स्वभाव से आक्रामक हैं।