वाशिंगटन : व्हाइट हाउस ने मंगलवार को होने जा रहे उसके सोशल मीडिया समिट में फेसबुक और ट्विटर को आमंत्रित नहीं किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इसके पीछे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का वह विचार हो सकता है जिसके अनुसार, दोनों प्लेटफॉर्म्स कंजर्वेटिव या रिपब्लिकन के विचारों को तोड़-मरोड़ कर पेश करते हैं।

सीएनएन ने द हिल की रविवार की रिपोर्ट के हवाले से कहा कि सम्मेलन में सोशल मीडिया से संबंधित मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद है। व्हाइट हाउस ने हालांकि इस संबंध में कोई बयान देने से इनकार कर दिया है।

फेसबुक और ट्विटर जैसी दिग्गज कंपनियों के बिना कोई सोशल मीडिया सम्मेलन की कल्पना भी नहीं कर सकता, लेकिन अपने प्लेटफॉर्म पर रिपब्लिकन के विचारों का सम्मान नहीं करने के लिए ट्रंप बार-बार इन कंपनियों पर हमला कर चुके हैं।

ट्विटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) जैक डोर्से के साथ अपनी पिछली बैठक में ट्रंप ने डोर्से पूंछा कि माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म पर विशेषकर उनके फॉलोवरों की संख्या कम कैसे हो रही है।

इसे भी पढ़ें :

ट्रंप ने रद्द कर दी ओबामा की कार्बन उत्सर्जन कम करने की योजना

व्हाइट हाउस ने हाल ही में ऐसे लोगों द्वारा रिपोर्ट करने के लिए नया टूल लांच किया, जिन्हें फेसबुक और ट्विटर पर गलत तरीके से नियंत्रित किया गया, प्रतिबंधित किया गया या निलंबित किया गया हो।