कैनबराऑस्ट्रेलिया में एक प्रशिक्षु पायलट ने एडिलेड हवाई अड्डे के ऊपर नियंत्रित हवाई क्षेत्र में लगभग 40 मिनट तक बेहोशी में उड़ान भरी। उड़ान से पहले उसने अच्छी नींद नहीं ली थी और सुबह का नाश्ता भी नहीं किया था।ऑस्ट्रेलियाई परिवहन सुरक्षा ब्यूरो (एटीएसबी) ने 9 मार्च की इस 'गंभीर घटना' को लेकर एक रिपोर्ट जारी की है जिसमें फ्लाइट स्कूल फ्लाइट ट्रेनिंग एडिलेड का विमान शामिल था।

उड़ान से पहले नहीं ली थी पर्याप्त नींद

एटीएसबी ने कहा कि ट्रेनी पायलट ने उड़ान से पहले पर्याप्त नींद नहीं ली थी और उड़ान भरने से पहले महज चॉकलेट बार, एक एनर्जी ड्रिंक और थोड़ा सा पानी पिया था। घटना वाले दिन उसने दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के पोर्ट ऑगस्टा हवाई अड्डे से एडिलेड के बाहर पैराफील्ड हवाई अड्डे पर एक एकल नेविगेशन उड़ान भरी थी। एटीएसबी ने कहा, "उड़ान से पहले पायलट ने ठीक से नींद नहीं ली थी और उसे हल्का जुकाम था।"

उड़ान के दौरान पायलट को हुआ सिर में दर्द

ऑस्ट्रेलिया के एबीसी न्यूज ने शुक्रवार को कहा कि अपनी 40 मिनट की यात्रा के दौरान 5,500 फीट की उड़ान के समय उसे सिर में दर्द हुआ जिसके बाद उसने ऑटोपायलट ऑन कर दिया। डायमंड डीए 40 विमान ने एडिलेड के नियंत्रण वाले हवाई क्षेत्र में बिना इजाजत प्रवेश किया। एयर ट्रैफिक कंट्रोल ने कई बार पायलट से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन वह नाकाम रहे।

ऐसे एयरपोर्ट पर लौटा पायलट

इसके बाद एडिलेड के दक्षिण-पश्चिम में उड़ान भर रहे पास में मौजूद एक अन्य विमान ने उस विमान को देखा और बताया कि पायलट को अब होश आ गया है। पायलट फिर दूसरे विमान के एस्कॉर्ट के तहत पैराफील्ड हवाई अड्डे पर लौट आया।

इसे भी पढ़ें

जब इस एयर होस्टेस ने कॉलर पकड़कर यात्रियों को प्लेन से फेंका बाहर, जानिए क्या है मामला

घटना के बाद, फ्लाइट ट्रेनिंग एडिलेड ने एटीएसबी को बताया कि वह कई 'सुरक्षा कार्रवाइयों' को लागू करेगा, जिसमें छात्रों को पिछले 24 और 48 घंटों में उनके सोने के समय और उनके अंतिम भोजन के समय व उसके प्रकार के बारे में बताना होगा।उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण स्कूल छात्रों को 'नींद के पैटर्न के बारे में' बेहतर मार्गदर्शन प्रदान करने और 'थकान प्रबंधन पर अधिक जोर देने के साथ' सुरक्षा ब्रीफिंग करने के लिए भी प्रतिबद्ध है।