लंदन। ब्रिटेन में भारतीय मूल के एक व्यक्ति को छह साल और एक महीने की जेल की सजा सुनाई गई है। कोर्ट ने भारतीय मूल के व्यक्ति को छह महिलाओं से धोखाधड़ी मामले में दोषी पाया है। ब्रिटेन पुलिस ने इस शख्स को 'धोखेबाज प्रेमी' नाम दिया है।

महिलाओं को देता था इन्वेस्टमेंट का लालच

दोषी पाया गया भारतीय महिलाओं से ऑनलाइन मिलता और बिना अस्तित्व वाली कंपनियों में उन्हें निवेश का लालच देता था। किंगडम क्राउन कोर्ट ने धोखाधड़ी के मामलों में स्कॉटलैंड यार्ड की चार साल चली जांच के आधार पर पूर्वी लंदन निवासी केयुर व्यास को बुधवार यह सजा सुनाई।

करतूतों को अंजाम देने के लिए अपनाता था ऐसी तकनीक

मेट्रोपोलिटन पुलिस ने पाया कि उसने छह अलग-अलग महिलाओं के साथ आठ लाख पाउंड से अधिक की धोखाधड़ी की थी। मेट्रोपोलिटन पुलिस की सेंट्रल स्पेशलिस्ट कमान के जांचकर्ता डिटेक्टिव कांस्टेबल एंडी चैपमैन ने कहा, 'अपनी करतूतों को अंजाम देने के लिये व्यास जांची-परखी तकनीक आजमाता था। वह इन महिलाओं का भरोसा जीतता और फिर उनके इसी भरोसे का फायदा उठाकर उन्हें बिना अस्तित्व वाली कंपनियों में निवेश करने को कहता।'

5 साल पहले शुरू हुई थी जांच

मेट्रोपोलिटन पुलिस ने अक्टूबर 2014 में मामले में जांच शुरू की थी। अदालत को बताया गया कि आरोपी महिलाओं को अपने प्रेमजाल में फंसाता था और उन्हें यह यकीन दिलाता था कि वह प्रभावशाली व्यक्ति है जो वित्तीय क्षेत्र में कार्यरत है। व्यास ने इस साल मार्च में चार मामलों में अपना जुर्म कबूल कर लिया और दो मामलों में आरोप उसकी फाइल के आधार पर तय होंगे।