अमेरिका में सिख परिवार के 4 सदस्यों की हत्या, सुषमा स्वराज ने किया ट्वीट

कांसेप्ट इमेज - Sakshi Samachar

वाशिंगटन : अमेरिका में एक सिख परिवार के चार सदस्यों की उनके घर में गोली मारकर हत्या कर दी गई है। मरने वालों में तीन महिलाएं शामिल हैं। न्यूयार्क स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास ने बताया कि वे पुलिस के साथ संपर्क में हैं।

वेस्ट चेस्टर पुलिस प्रमुख जोएल हर्जोग ने बताया कि पीड़ितों के एक रिश्तेदार ने पुलिस को घटना की सूचना दी। रिश्तेदार ने पुलिस को 911 नंबर पर फोन कर बताया, ‘‘मेरी पत्नी और परिवार के तीन अन्य सदस्य जमीन पर थे और खून बह रहा था। उनके सिर से खून बह रहा है।'' उसने कहा, ‘‘कोई नहीं बोल रहा है, कोई नहीं बोल रहा है।''


एक स्थानीय धार्मिक नेता ने सिनसिनाटी इंक्वायरर में मारे गए लोगों की पहचान हकीकत सिंह पनाग, उनकी पत्नी परमजीत कौर, बेटी शालीन्दर कौरऔर उनके रिश्तेदार अमरजीत कौर के रूप में की है। रिपोर्ट में बताया गया है कि सभी की रविवार रात करीब 9.50 बजे (स्थानीय समयानुसार) गोली मारकर हत्या की गई।

पोस्टमार्टम करने वाले एक व्यक्ति ने बताया कि यह हत्या का मामला है और वे सभी ‘गोली लगने' के कारण मारे गये हैं। पुलिस ने बताया कि घटना के वक्त इनमें से कोई खाना बना रहा था क्योंकि जब पुलिस वेस्ट चेस्टर अपार्टमेंट कॉम्प्लेक्स के लेकफ्रंट में पहुंची, तब वहां गैस पर कोई डिश रखी हुई थी।


न्यूयार्क स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास ने बताया कि वे पुलिस के साथ संपर्क में हैं। न्यूयार्क में स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास ने ट्वीट किया, ‘‘पीड़ित परिवार के प्रति हम शोक व्यक्त करते हैं। हम पुलिस और परिवार के साथ लगातार संपर्क में हैं। हम आश्वस्त हैं कि अपराधी को न्याय के दायरे में लाया जाएगा।''

यह भी पढ़ें :

अमेरिका में तेलंगाना की विवाहिता ने गला काट कर की आत्महत्या

अमेरिका में हैदराबाद के डॉक्टर की मौत, गलत दिशा से आ रही कार ने मारी टक्कर

इस बीच, नयी दिल्ली में भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को ट्वीट किया कि उन्हें अपराध के बारे में जानकारी है और उन्हें नहीं लगता कि यह घृणा अपराध का मामला है। उनके ट्वीट के मुताबिक, हत्या का शिकार हुए लोगों में से एक भारतीय नागरिक था जो अमेरिका की यात्रा पर गया हुआ था।

ग्रेटर सिनसिनाटी के गुरु नानक सोसाइटी में एक गुरुद्वारे के सदस्य ने बताया कि परिवार के चार सदस्यों ने वहां मत्था टेका था। रिपोर्ट में बताया गया है कि हत्या के कारण का अभी पता नहीं चल पाया है और इस बात का कोई संकेत नहीं मिला है कि यह घृणा अपराध है। अभी किसी संदिग्ध की पहचान नहीं हो सकी है।

Advertisement
Back to Top