कराची. पाकिस्तान के कराची में शुक्रवार को चीनी दूतावास में आतंकवादियों ने हमला बोल दिया। इस हमले में पाकिस्तान पुलिस के दो जवानों की मौत हो गई। काफी लम्बी मुठभेड़ के बाद सुरक्षा बल के जवान आतंकियों को मार गिराने में कामयाब हो गए।

दूतावास पर बलूच लिबरेशन आर्मी (बीएलए) के हमले के दौरान सुहाई अजीज तालपुर ने ही इस ऑपरेशन को लीड किया। बताया जा रहा है कि दूतावास पर हमले के बाद एएसपी सुहाई अजीज तालपुर ने अपनी टीम के साथ मोर्चा संभाला और आतंकियों को मार गिराया।

पाकिस्तान की महिला एएसपी सुहाई अजीज तालपुर। ( फोटो ट्विटर)
पाकिस्तान की महिला एएसपी सुहाई अजीज तालपुर। ( फोटो ट्विटर)

कौन है सुहाई अजीत तालपुर

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सुहाई पाकिस्तान के तांडो मोहम्मद खान जिले के एक मिडिल क्लास फैमिली से ताल्लुक रखती हैं। उन्होंने शुरुआती पढ़ाई तांडो मुहम्मद खान स्थित एक प्राइवेट स्कूल से की है। वहीं, इंटरमीडिएट के लिए बहारिया फाउंडेशन ज्वॉइन किया था। इसके अलावा सिंध प्रांत के हैदराबाद स्थित जुबैदा गर्ल्स कॉलेज से उन्होंने बीकॉम किया।

यह भी पढ़ें : कराची में चीनी दूतावास के बाहर आतंकी हमला, 2 सुरक्षाकर्मियों की मौत

पाकिस्तान :खैबर पख्तूनख्वा के हंगू में ब्लास्ट, 25 की मौत, 35 घायल

रिश्तेदारों ने दिए ताने, छोड़ना पड़ा गांव

सुहाई को शुरुआती दौर में अपने रिश्तेदारों से काफी ताने झेलने पड़े। यहां तक कि उनको अपना गांव भी छोडना पड़ गया। उनके रिश्तेदार नहीं चाहते थे कि सुहाई प्राइवेट स्कूल में पढ़े। इस वजह से लोगों ने उनसे रिश्ते खत्म कर लिए। वे चाहते थे कि वे मदरसे में पढाई करे। उनके पिता अपनी बेटी को अच्छी शिक्षा दिलाना चाहते थे।

सुहाई अजीज 
सुहाई अजीज 

फैमिली बनाना चाहती थी चार्टड अकाउंटेंट

सुहाई के पिता पॉलिटिकल एक्टिविस्ट और राइटर है। उनके पिता ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उनकी फैमिली सुहाई चार्टर्ड अकाउंटेंट बनाना चाहती थी, लेकिन उनका मन इस नौकरी में नहीं लगा। इसके बाद उन्होंने सीएसएस की तैयारी की और फर्स्ट अटेम्पट में पास भी हो गई। उन्होंने 2013 में सेंट्रल सुपीरियर सर्विसेज (सीएसएस) एग्जाम पास करके पुलिस फोर्स ज्वॉइन की थी। बता दें कि सुहाई सिंध प्रांत की पहली ऐसी महिला हैं जिन्होंने पुलिस सर्विस ज्वाइन किया ।