पनामा सिटी : अमेरिका के फ्लोरिडा में दस्तक देने के साथ ही माइकल तूफान ने एक शख्स की जान ले ली और कई घरों और सड़कों को पानी में डुबो दिया। मैक्सिको की खाड़ी क्षेत्र में इस तू्फान की वजह से कई पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गए। जिस वक्त ‘माइकल' ने इलाके में दस्तक दी थी, इसे श्रेणी-चार में रखा गया था।

फ्लोरिडा के अधिकारियों ने कहा कि माइकल की वजह से 155 मील प्रतिघंटा (250 किलोमीटर प्रतिघंटा) की रफ्तार से हवाएं चली। प्रांत के उत्तरी पेनहैंडल इलाके में करीब एक शताब्दी में आया यह सबसे शक्तिशाली तूफान है। स्थानीय समयानुसार रात आठ बजे ‘माइकल' कमजोर होकर श्रेणी-एक का तूफान रह गया और इस दौरान 90 मील प्रतिघंटे की अधिकतम रफ्तार से हवाएं चली।

मैक्सिको बीच से आई तस्वीरों और वीडियो में बर्बादी का मंजर नजर आ रहा है जहां पानी से भरी सड़कों पर घर तैरते दिखे, कुछ घर अपनी नींव से उखड़ गए जबकि कई घरों की छतें उड़ गईं। सड़कों पर मलबे का ढेर तैरता दिखा।

करीब तीन घंटों तक तेज हवाओं और भारी बारिश के बाद पनामा सिटी की सड़कों पर चलना मुश्किल हो गया। जगह-जगह पेड़ उखड़े पड़े हैं, सेटेलाइट डिशें और ट्रैफिक लाइट उखड़ी पड़ी हैं। व्हाइट हाउस में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को जानकारी देते हुए फेडरल इमरजेंसी मैनेजमेंट एजेंसी (एफईएमए) प्रमुख ब्रॉक लांग ने कहा कि माइकल फ्लोरिडा पेनहैंडल में 1851 के बाद से आने वाला सबसे भयंकर तूफान है।

यह भी पढ़ें: अमेरिका में ‘फ्लोरेंस’ तूफान से मरने वालों की संख्या बढ़कर 31 हुई