बर्लिन: जर्मनी का एक कैथोलिक चर्च में साल 1946 से 2014 के बीच के यौन उत्पीड़न के 3,677 मामलों का खुलासा हुआ है। इनमें अधिकांश पीड़िताएं नाबालिग हैं।

इस सनसनीखेज खुलासे में हर छठा माला बलात्कार का है। जर्मनी की मीडिया में ये खबर सुर्खियों में है। इन मामलों में कुल 1670 धर्मगुरू आरोपी हैं।

बता दें कि जर्मनी के तीन विश्वविद्यालयों ने चार सालों के गंभीर रिसर्च के बाद पूरे तथ्य इकट्ठा किए हैं। मजेदार बात ये कि ट्रियर के बिशप स्‍टीफन एकेरमान भी इस गंभीर आरोपों के बारे में अनजान नहीं हैं। हालांकि बिशप ने माना कि ये शर्मिंदगी करने वाला रिपोर्ट है।

यह भी पढ़ें:

नन पर आपत्तिजनक बयान, “12 बार मजे लिए, 13वीं बार बता दिया बलात्कार”

वहीं पोप फ्रांसिस ने दुनियाभर के सभी बिशप्स के अध्यक्षों को अगले साल फरवरी में होने वाले कॉन्फरेंस के लिए बुलाया है। जिसमें यौन उत्पीड़न और बच्चों की सुरक्षा पर गंभीर चर्चा होगी।