ओरेगन (अमरीका): अमेरिका की अदालत ने साल 2017 में जोशुआ हॉर्नर को यौन शोषण मामले में 50 साल की सजा सुनाई थी।

पीड़ित बच्ची ने आरोप लगाया था कि आरोपी ने पहले तो उसका यौन शोषण किया। फिर सुबूत मिटाने के लिए अपनी पालतू कुतिया लूसी को गोली मार दी।

वहीं आरोपी हॉर्नर लगातार इन आरोपों से इनकार करते रहे। हॉर्नर ने न सिर्फ बच्ची के आरोपों से इनकार किया था बल्कि कुतिया को गोली मारने की बात को भी खारिज किया था।

आरोपी की उच्चतम अदालत में अपील के बाद कुतिया की खोज शुरू हुई। पुलिस के अथक परिश्रम के बाद लूसी नाम की ये लेब्राडोर कुतिया अपने नए मालिक के यहां मिल गई।

फिर क्या था, बच्ची के बाकी आरोपों को भी संदेह के घेरे में रख दिया गया। साथ ही पचास साल की सजा पा चुके हॉर्नर को बाइज्जत बरी कर दिया गया।

अपने मालिक को दोषमुक्त करवाने वाली लूसी नाम की इस लैब्राडोर कुतिया की दुनियाभर में चर्चा है।