इस्लामाबाद : बच्चों से जुड़ी संयुक्त राष्ट्र की एक एजेंसी ने मंगलवार को जारी अपनी एक रिपोर्ट में पाकिस्तान को नवजात शिशुओं के लिए सर्वाधिक खतरनाक देश होने का संकेत देते हुए कहा है कि पाकिस्तान में जन्मे प्रति 1,000 बच्चों में से 46 की उसी समय मौत हो जाती है।

पाकिस्तान के पश्चिमोत्तर खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में एक प्रमुख प्रसूति विशेषज्ञ डा गजना खालिद ने बताया कि संख्या कम नहीं है। उन्होंने कहा ‘‘हमारे पास डॉक्टरों की बहुतायत है। हमें तो प्रसव में सहायक दक्ष दाइयों की जरूरत है।'' इस रिपोर्ट में दक्षिण एशिया और सब सहारा अफ्रीका को बच्चों के जन्म के लिए बुरे स्थान बताया गया है।

यह भी पढ़ें :

IS के हमले में 27 इराकी सैनिकों की मौत

5 बच्चों की मां से इमरान खान ने रचाई तीसरी शादी

ईरान में यात्री विमान दुर्घटनाग्रस्त, 66 लोगों की मौत

OMG! यात्री ने जब छोड़ी गैस, तो करानी पड़ी फ्लाइट की एमरजेंसी लैंडिंग

यह रिपोर्ट यूनिसेफ के नए अभियान का हिस्सा है जो नवजात मृत्युदर में कमी लाने के लिए चलाया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान के बाद मध्य अफ्रीकी गणराज्य नवजात शिशुओं के लिए दूसरा सर्वाधिक खतरनाक स्थान है। तीसरे नंबर पर अफगानिस्तान है।

इस रिपोर्ट में बताया गया है कि 80 फीसदी नवजातों की मौत का कारण समय से पहले जन्म लेना, ऑक्सीजन की कमी और सेप्सिस तथा न्यूमोनिया सहित जन्मजात संक्रमण जैसी समस्याएं हैं। इन समस्याओं का समय रहते इलाज हो सकता है और इनसे होने वाली मौतों को रोका जा सकता है।