संसार में अनेक तरह की अफवाएँ फैलती हैं। इन में से कुछ बहुत ही तनाव भरे होते हैं। 20 वीं शताब्दी में कुछ ऐसा ही हुआ था। इसी प्रकार वर्ष 1999 की समाप्ति तथा 2000 के आरंभ में भी एक अफवाह फैली थी। इस अफवाह ने लोगों में काफी दहशत पैदा कर दी थी। नयी शताब्दी में पूरी दुनिया सर्वनाश हो जाएगी। यह अफवाह लोगों के लिए काफी तनाव भरा रहा। बाद में यह अफवाह झूठ साबित हुई।

कुछ देशों में प्राकृतिक विपत्तियाँ आयी। कईं विनाश भी हुआ, किंतु दुनिया डूबी नहीं। वर्ष 2014 में भी कुछ इसी तरह अफवाह का प्रचार हुआ। मयन कैलेंडर के नाम पर कुछ लोग ने हो-हल्ला मचाया। उस समय कहा गया था कि दुनिया डूब जाएगी। सर्वनाश हो जाएगी। अंत में ऐसा कुछ नहीं हुआ। वह प्रचार झूठ साबित हुई। वर्ष 2014 समाप्त हुआ और दो वर्ष बीत जाने को भी है, किंतु वैसा कुछ नहीं हुआ।

इस समय एक और अफवाह पर्दे पर आयी है। विश्वविख्यात अमेरिका अंतरीक्ष अनुसंधान केंद्र, नासा के नाम से फैली यह अफवाह काफी हंगामा मचा रही है। इस अफवाह का सारांश है कि आगामी 15 नवंबर से 30 नवंबर तक पूर्ण पृथ्वी अंधकार में बदल जाएगी अर्थात 15 दिन तक पृथ्वी पर अंधकार छा जाएगा। इन 15 दिनों में सूर्य की किरणें जमीन पर नहीं गिरेगी। यह भी कहा जा रहा है कि नासा के एक प्रमुख व्यक्ति ने राष्ट्रपति ओबामा को इस आशय का एक लंबा पत्र भी लिखा है। कुछ वेबसाइटों में धड़ल्ले से इसका प्रसारण हो भी रहा है।

द बोर्ड माइंड नामक वेबसाइट ने इसी बात को लेकर एक कथन प्रकाशित किया है। वेबसाइट ने नासा वैज्ञानिकों का हवाला देते हुए कहा कि नवंबर को ‘ब्लाक-आउट’ के नामसे जाना जाएगा। आगामी 15 नवंबर की अलस सुबह से 30 नवंबर की शाम 4.45 बजे तक पृथ्वी पर अंधकार छाया जाएगा। वेबसाइट ने प्रचार पाने के उद्देश्य से वैज्ञानिकों का हवाला भी दिया है। 15 नवंबर को सौर मंडल में गुरु व शुक्र ग्रह काफी करीब आएँगे। उस समय गुरु ग्रह से शुक्र ग्रह 10 गुना अधिक प्रकाशवान होगा। परिणामस्वरूप शुक्र ग्रह से भीषण गरमी होगी और वायु निकल आएगी। इसके चलते सूर्य का तापमान 9 हजार डिग्री केल्विन में तबदील हो जाएगी। भीषण गरमी के चलते सूरज का लाल रंग थोड़ा नीले रंग में तब्दील हो जाएगी। तत्पश्चात साधारण स्थिति को आने के लिए सूरज को 15 दिन का समय लगेगा। साधारण स्थिति में लौटने के बाद मनुष्य को 8 मिनट के बाद इस बात का पता चलेगा। सूरज अपनी रोशनी कुछ-कुछ खोने जैसा आभास होने लगने लगेगा।

नासा ने मात्र इस अफवाह को सिरे से खारिज कर दिया। नासा ने कहा कि नवंबर माह में अंधकार होने के बारे में उन्होंने ऐसी कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की है। यह एक अफवाह मात्र है। किसी को भी घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है। यह अफवाह केवल हँसने के लिए मात्र काम आयेगी।