सुबह से लेकर रात तक अपने परिवार को संवारने के साथ-साथ कार्यालयों के काम में व्यस्त रहने वाली कामकाजी महिलाएं खुद के लिए वक्त नहीं निकल पातीं। सुबह में नाश्ता, बच्चों के लिए स्कूल भोजन और पति के लंच बॉक्स तैयार करना, ऑफिस से लौटते समय घर के लिए जरूरी सामान लाना, बच्चों से होमवर्क करवाना और डिनर की तैयारी करना जैसे काम में व्यस्त रहती हैं वर्किंग वूमेन।

यही वजह है कि वर्किंग वूमेन के पास अपने स्वास्थ्य के प्रति ध्यान के लिए वक्त ही नहीं बचता। सबके हेल्थ पर ध्यान देने वाली महिलाएं अपने खुद की सेहत को लेकर गंभीर नहीं होती। परंतु सेहत को लेकर नजर अंदाज करना महिलाओं के लिए भारी पड़ जाता है और वह बीमार हो जाती है। महिलाएं अगर सदैव स्वस्थ्य रहना चाहती हैं और बीमारियों से बचना चाहती हैं तो यहां आपके लिए कुछ खास हेल्थ टिप्स बताएंगे जो आपको पूरा दिन हेल्थी और एक्टिव रहने में मदद करेंगे।

नियमित व्यायाम या योग जरूरी...

महिलाएं अकसर कहती दिखती हैं कि उन्हें व्यस्तता के कारण व्यायाम के लिए समय नहीं बचता, लेकिन सच में इसे केवल एक बहाना ही कहा जा सकता है।

कॉंसेप्ट फोटो
कॉंसेप्ट फोटो

एक तरफ जहां प्रतिदिन दस से पंद्रह मिनट की एक्सरसाइज आपके मूड को बेहतर करने में मदद करती है, वहीं यह तनाव से दूर रहने में भी आपकी सहायता करती है। इसलिए बिजी शेड्यूल के बावजूद व्यायाम या योग को अपने से दूर नहीं करें। इससे आप मानसिक और शारीरिक चुस्त और तंदूरुस्त रहेंगी।

ब्रेकफास्ट को बनाए नियमित...

प्रति दिन सुबह सेहतमंद ब्रेकफास्ट बेहद जरूरी है, लेकिन महिलाओं भागदौड़ की वजह से ब्रेकफास्ट नहीं कर पाती, लेकिन ऐसा कभी नहीं करना चाहिए क्योंकि ब्रेकफास्ट ही है जो आपको दिनभर की एनर्जी का आधार बनता है।

आपका नाश्ता पौष्टिक होना चाहिए, ताकि आप पूरा दिन खुद को एनर्जेटिक महसूस कर सके। नाश्ते में ताजे फल और अंकुरित अनाज दूध व दलिए के साथ लेना बेहतर होगा। टोन्ड दूध या दही और प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों को भी अपनी डाइट में शामिल जरूर करें। इससे आप दिन भर के लिए स्वस्थ महसूस करेंगी।

पर्याप्त नींद लेनी चाहिए

कई अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि नींद की कमी कई बीमारियों की वजह बन सकती है। आज जितना वक्त सोती हैं उतने समय तक आपकी नींद गहरी और मीठी जरूर होनी चाहिए।

कॉंसेप्ट फोटो 
कॉंसेप्ट फोटो 

ऐसा होने पर आप स्वस्थ रह सकती हैं। आपको सोने और जगाने का समय फिक्स करना चाहिए।

मोटापे को लेकर सीरियसनेस जरूरी...

आमतौर पर महिलाओं की शिकायत होती है कि उनके बहुत कम भोजन करने के बाद भी वह मोटी होती जा रही हैं। परंतु वह इस बात पर ध्यान नहीं देती कि वह जो भोजन ले रही है उसमें कितनी कैलौरी होती है।

कॉंसेप्ट फोटो 
कॉंसेप्ट फोटो 

भोजन में केलौरी पर ध्यान नहीं देने से ही शरीर का अनुपात बिगड़ने लगता है। कम खाना हल नहीं बल्कि पौष्टिक और वसा रहित कम कैलोरी का खाना आपको स्वस्थ रखने में मदद करेगा। वसारहित पौष्टिक डाइट लें, वजन अपने आप नियंत्रण में रहेगा।

साफ-सफाई पर रखें खास नजर

महिलाओं को अपने शरीर की साफ-सफाई के अलावा खाने-पीने को लेकर भी सावधान रहना जरूरी है। फास्ट फूड के अलावा बाहर बाजार में ठेलों व खुले में बेचे जाने वाले खाद्य सामग्री से बचे और इन खानों के बेहतर विकल्प घर पर तैयार करें। इससे स्वाद तो आएगा ही, सेहत भी खराब नहीं होगी।