आम तौर पर हम लोगों को पीपल के पेड़ को पूजा करते देखते हैं, लेकिन बहुत कम लोग जानते होंगे कि औषधीय दृष्टि से यह पीपल का पेड़ कितना उपयोगी है। पीपल के पेड़ के पत्ते और उसका छाल, टहनी अर्थात पेड़ के सभी हिस्से किसी न किसी रोग के निवारण में उपयोगी है।

इतना ही नहीं, कई नाइलाज बताई जाने वाली बीमारियों में पीपल के पत्ते बेहद उपयोगी और गुणकारी होते हैं। इसके बत्तों से कई बीमारियों का पर्मनेंट इलाज भी संभव है। मुख्य रूप से दमा, नपुंसकता, कब्ज, गुर्दे, अतिसार सहित अन्य कई बड़ी बीमारियों के इलाज में कारगर माना जाता है।

मानव शरीर के लिए पीपल का पेड़ बहुत ही उपयोगी है। पीलिया, रतौंधी, अस्थमा, खांसी, मलेरिया जैसे समस्याओं के इलाज में पीपल की लकड़ी, टहनी और जड़ का इस्तेमाल किया जाता है। हम आपको पीपल के पेड़ से होने वाले पांच महत्वपूर्ण फायदें बताने जा रहे हैं, जो आपको शरीर दुरुस्त और तंदुरस्त बनाए रखने में मददगार साबित होंगे।

अस्थमा सहित अन्य सांस संबंधी समस्याओं के लिए रामबाण

अगर आप अस्थमा व अन्य सांस संबंधी दिक्कतों से जूझ रहे हैं तो पीपल का पेड़ आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। आपको बस करना ये है कि पीपल के पेड़ की छाल के अंदर वाला हिस्सा निकालकर सुखा लें। उसके बाद उस सूखे हुए हिस्से का पाउडर बना लें और दवाई के रूप में सेवन करें।

नियमित रूप से ऐसा करने पर सांस संबंधित कई समस्याएं दूर हो सकती हैं। इतना ही नहीं आप इसके पत्तों को दूध में उबालकर पीएं। ऐसा करने से दमा की समस्या भी दूर होती है। पीपल के पत्तों में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। नियमित रूप से इसके कोमल पत्ते चबाने से तनाव कम हो जाता है और बढ़ती उम्र का असर भी कम दिखाई देने लगता है।

दाद, खाज और खुजली से देता है राहत

दाद, खाज, खुजली जैसी त्वचा समस्या से राहत पाने में पीपल की छाल बेहद फायदेमंद है। पीपल की छाल को घिसकर प्रभावित हिस्से पर उसका लेप लगाने से फायदा होता है। अगर शरीर में अंदरूनी चोट लगी है तो पीपल के पत्तों का गर्म लेप लगाएं। ऐसा करने से दर्द और सूजन से राहत मिलती है। इसके साथ ही घाव को जल्द भरने में पीपल की छाल का लेप बहुत फायदा देता है। इससे उस हिस्से में होने वाली जलन भी कम होती है।

दांत और मसूड़ें भी बनते हैं मजबूत

पीपल के पेड़ से बनी दातुन दांत को मजबूत बनाने में बेहद फायदेमंद है। रोज सुबह इस दातुन से दांत साफ करने पर दांतों में दर्द की समस्या दूर हो जाती है। इतना ही नहीं आप पीपल की छाल, कत्था और काली मिर्च को बारीक पीसकर मंजन बना लें। नियमित रूप से ऐसा करने पर दांतों की किसी भी प्रकार की समस्या को दूर किया जा सकता है।

गैस या कब्ज से राहत

आजकल के जंक फूड और स्ट्रीट फूड के कारण ज्यादातर लोग कब्ज या गैस की समस्या से जूझ रहे होते हैं। इस समस्या से निजात पाने के लिए पीपल के पत्तों का प्रयोग दवा के रूप में किया जा सकता है। पीपल के पत्ते पित्‍त नाशक भी होते हैं, जो पेट की समस्याओं में तुरंत राहत प्रदान करते हैं। आप पीपल के ताजे पत्‍तों का रस निकालकर सुबह-शाम पीएं। एक चम्‍मच पत्तों का रस पीने से पित्‍त की समस्याएं भी समाप्त हो सकती है।