इस तरह के महिला-पुरुषों में तेजी से बढ़ रहा One Night Stand का कल्चर

कॉंसेप्ट फोटो  - Sakshi Samachar

आजकल हमारा समाज तेजी से बदल रहा है और हर कोई स्वच्छंद और खिला जीवन जीना चाह रहा है। ऐसे में नौकरी पेशा वाले समाज में एक नया चलन बढ़ने लगा है और लोग इसे अच्छा मानने लगे हैं। पर क्या वाकई में अच्छा है..और क्या पूरा समाज इसे स्वीकार करेगा..! इस पर सवाल उठने लगा है।

कहा जा रहा है कि बदलते समय के साथ लोगों का टेस्ट और आदतें भी बदलनी लगी हैं। इन दिनों देश के शहरी और अर्ध शहरी क्षेत्रों में 'वन नाइट स्टैंड' कल्चर काफी पॉपुलर होती जा रही है। मुख्य रूप से मिडिल क्लास के लोग अपनी सेक्स लाइफ के साथ प्रयोग करने में रुचि दिखा रहे हैं। देश में वन नाइट स्टैंड का कल्चर एक तरह से आम बात बन गई है, लेकिन ऐसे में यह सवाल उठना लाजमी है कि उसकी अगली सुबह क्या.. ?

हैदराबाद में एक इंटरनेशनल कांफ्रेस में शामिल होने आई दीपिका (बदला हुआ नाम) ने कहा कि शादी के रिश्त में बंधकर ही जीवन का आनंद लिया जा सकता है, ऐसा नहीं है। आप अपने को खुश करने के लिए बाहर के संसाधनों का भी सहारा ले सकते हैं। इसमें यह वन नाइट स्टैंड भी शामिल है। लोग भले इसे गलत कहें, मैं नहीं मानती।

वहीं मनोज (बदला नाम) के एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने कहा कि उसे देश के कोने-कोने के साथ साथ विदेशों में जाना पड़ता है और कई दिन व कई रातें बाहर ही बितानी पड़ती है। ऐसे में अगर उसे वन नाइट स्टैंड का मौका मिलता है तो वह अक्सर स्वीकार कर लेता है और अगले दिन कहीं और के लिए निकल लेता है।

लोगों का ऐसा स्वभाव देखने को मिल रहा है कि वन नाइट स्टैंड अस्थाई है और किसी भी तरह से वे प्रतिबद्धता की भावना से बंधे नहीं हैं। हालांकि कभी-कभी इसे गंभीर संबंधों में बदल सकते हैं। दूसरी ओर, अस्थाई सेक्स लाइफ भावनात्मक अनुभव को महसूस करने से जोड़कर देखी जा रही है।

इसे भी पढ़ें :

शारीरिक संबंधों के लिए पहल की इच्छा महिलाओं के मुकाबले पुरुषों में तीन गुना अधिक

मनोवैज्ञानिक व मनोचिकित्सक डॉ. संजय का कहना है कि इस वन नाइट स्टैंड कल्चर का दूसरा पहलू भी है, जिसमें यौन संचारित रोगों का खतरा रहता है। प्रतिबद्धता की अंतर्निहित कमी भावनात्मक रूप से कमजोर पार्टनर को अवसाद की स्थिति में धकेल सकता है। विशेष रूप से विवाहितों के मामले में यह अपराधबोध से ग्रस्त अवस्था भी हो सकती है।

कहा जा रहा है कि इसे मनचले लोगों ने फैशन बनाना शुरू कर दिया है पर यह चोरी चुपके ही चल रहा है..बहुत कम लोग ही इसे खुले मन से स्वीकार करेंगे और वन नाइट स्टैंड के बाद घर आई किसी लड़की या महिला को अपने घर में जगह देंगे।

Advertisement
Back to Top