न्यूयॉर्क : अक्सर लोग अपने वैवाहिक जीवन को लेकर परेशान रहते हैं। पारिवारिक कलह की तमाम वजह भी बताई जाती है, लेकिन क्या आपको मालूम है कि एक सफल वैवाहिक जीवन में जीन की अहम भूमिका होती। यह बात हालिया एक शोध में सामने आई है।

पूर्व के शोध में भी इस बात के संकेत दिए गए हैं कि सफल वैवाहिक जीवन आंशिक तौर पर आनुवांशिक कारकों से प्रभावित होता है और ऑक्सीटोसिन सामाजिक समर्थन में मददगार होता है। हालिया शोध के अनुसार, विशेष जीनों में भिन्नता ऑक्सीटोसिन की कार्यपद्धति से जुड़ी होती है और यह समग्र रूप से सफल वैवाहिक जीवन पर असर डालती है।

जीन पार्टनर्स के बीच समन्वय के लिए भी महत्वपूर्ण होते हैं। इस शोध में विभिन्न तरह के जीनोटाइप- ऑक्सीटोन रिसेप्टर जीन (ओएक्सटीआर)के संभावित जीन संयोजन-का मूल्यांकन किया गया है, जो बताते है कि किस तरह जीवनसाथी एक दूसरे का सहयोग करते हैं। यह सफल वैवाहिक जीवन का प्रमुख निर्धारक होता है।

यह भी पढ़ें :

WHO का दावा, दुनियाभर में 2030 तक 6.8 करोड़ लड़कियों पर खतने का खतरा

महिलाओं का मस्तिष्क उनके हमउम्र पुरुषों की तुलना में तीन साल जवां रहता है : अध्ययन

ऑक्सीटोसीन के नियमन व रिलीज से जुड़े होने की वजह से ओएक्सटीआर को लक्ष्य बनाया गया। अमेरिका के बिंघमटन विश्वविद्यालय के एसोसिएट प्रोफेसर रिचर्ड मैटसन ने कहा, "सफल वैवाहिक जीवन के लिए जीन मायने रखते हैं, क्योंकि व्यक्ति के लिए जीन प्रासंगिक होते है और व्यक्तियों की विशेषताएं शादी पर असर डालती हैं।"