लॉस एंजिलिस : वैज्ञानिकों ने प्लुरिपोटेंट स्टेम कोशिकाओं को परिपक्व टी कोशिकाओं में बदलने में सक्षम एक नई तकनीक विकसित की है जो ट्यूमर को खत्म करने में कारगर हो सकती है।

अमेरिका में यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, लॉस एंजिलिस के शोधकर्ताओं ने यह तकनीक विकसित की है। यह शोध पत्रिका सेल ‘स्टेम सेल' में प्रकाशित हुआ है। टी कोशिकाएं प्रतिरक्षा तंत्र की कोशिकाएं होती है जो संक्रमणों से लड़ती है। साथ ही उनमें कैंसर की कोशिकाओं को खत्म करने की क्षमता होती है।

ये भी पढ़ें: सुबह जल्दी उठने वाली महिलाओं में स्तन कैंसर का जोखिम कम, इस बात का रखें ख्याल

शोध के अनुसार, इस तकनीक की मदद से खुद से बनने वाली प्लुरिपोटेंट स्टेम कोशिकाओं से टी कोशिकाओं में बदलने की क्षमता कैंसर के इलाज में कारगर हो सकती हैं। शोधकर्ताओं ने कहा कि यह अध्ययन एचआईवी और स्व प्रतिरक्षित बीमारियों जैसे वायरल संक्रमण के लिए टी सेल थेरेपी पर और शोध के लिए प्रेरित कर सकता है।