वाशिंगटन : एक अध्ययन में पाया गया कि कॉलेज के विद्यार्थी अपने स्मार्टफोन को भोजन से भी अधिक तरजीह देते है और कई दफा इसके लिए भोजन छोड़ भी देते हैं। जर्नल ‘एडीक्टिव बिहेव्यर्स' में प्रकाशित अध्ययन में बताया गया कि कॉलेज के छात्रों के लिए भोजन से अधिक स्मार्टफोन से लगाव होता है।

अमेरिका में बुफैलो युनिवर्सिटी की वैज्ञानिक सारा ओडानेल ने बताया, ‘‘इस अध्ययन में हमने पहली दफा स्मार्टफोन से बढ़ते लगाव के साक्ष्य दिए हैं।'' उन्होंने कहा, ‘‘हमने यह भी पाया कि जब छात्र स्मार्टफोन और भोजन दोनों से वंचित थे तब छात्रों को स्मार्टफोन का उपयोग करने के लिए अधिक काम करने की तरफ प्रेरित किया गया। वे फोन प्राप्त करने के लिए अधिक कोशिश कर रहे थे।''

शोधकर्ता यह जानना चाहते थे कि स्मार्टफोन को लेकर व्यवहार उतना ही मजबूत होता है जैसा भोजन, मादक पदार्थ और शराब को लेकर व्यवहार होता है। ओडोनेल ने बताया, ‘‘आश्चर्यजनक रूप से हम प्रतिदिन पांच से नौ घंटे तक अनुमानित रूप से स्मार्टफोन का उपयोग करते हैं।'' इस अध्ययन में 18 से 22 साल की उम्र के कॉलेज के 76 छात्रों ने भाग लिया।

यह भी पढ़ें : किशोरों में स्मार्टफोन के नियंत्रित इस्तेमाल का बढ़ता रुझान : शोध

इन छात्रों की तीन घंटे भोजन तक पहुंच नहीं थी और दो घंटे तक अपने स्मार्टफोन तक पहुंच नहीं थी। इस दौरान इन लोगों ने अध्ययन किया या अखबार पढ़ा। इसके बाद छात्रों को कम्प्यूटर का इस्तेमाल की इजाजत दी गयी जिससे वे अपने स्मार्टफोन का इस्तेमाल या अपने पसंदीदा भोजन की 100 कैलोरी ‘कमा' सकते थे।

उन्होंने बताया कि हम यह देखकर आश्चर्यचकित थे कि छात्र किसी भी तरह स्मार्टफोन पाने के इच्छुक थे।