Mon Feb 18, 2019 Telugu English E-Paper Education
ब्रेकिंग न्यूज़
केरल में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की हत्या
राज्यपाल किरण बेदी के खिलाफ धरने पर बैठे पुडुचेरी के मुख्यमंत्री से मिलने जाएंगे केजरीवाल
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़
ICJ में कुलभूषण जाधव मामले की आज से होगी सुनवाई, अपना पक्ष रखेंगे भारत-पाकिस्तान
महाराष्ट्र के ठाणे में सामूहिक विवाह कार्यक्रम में 1101 हिंदू जोड़े शादी के बंधन में बंधे 

सेहत

रोज डे विशेष : प्यार के इजहार से कहीं ज्यादा है गुलाब का महत्व, काम आएगी ये जानकारी
संपादक की पसंद

रोज डे विशेष : प्यार के इजहार से कहीं ज्यादा है गुलाब का महत्व, काम आएगी ये जानकारी

गुलाब का फूल किसे पसंद नहीं होता। यह अपनी महक और खूबसूरती की वजह से इसे फूलों का राजा बनाती है। यही वजह है कि वेलेंटाइन डे के मौके पर इसकी मांग बहुत बढ़ जाती है। इसके साथ ही गुलाब का फूल अपनेआप में सेहत भरे गुणों की खान है।

सावधान!  स्मार्टफोन पर म्यूजिक सुनने से हो सकता है कम सुनाई देने का खतरा
सेहत

सावधान!  स्मार्टफोन पर म्यूजिक सुनने से हो सकता है कम सुनाई देने का खतरा

संयुक्त राष्ट्र के विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि स्मार्टफोन में संगीत सुनने तथा लगातार तेज आवाज के संपर्क में रहने के कारण एक अरब से ज्यादा लोगों को कम सुनाई देने का खतरा है।

गर्भनिरोधक गोलियां लेने वाली महिलाएं हो जाएं सावधान, खत्म हो सकता है इमोशन
सेहत

गर्भनिरोधक गोलियां लेने वाली महिलाएं हो जाएं सावधान, खत्म हो सकता है इमोशन

गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल करने वाली महिलाओं में चेहरे के हाव-भावों को पढ़ने की क्षमता प्रभावित हो सकती है, जिससे उनके अंतरंग संबंध पर भी असर पड़ सकता हैं। एक अध्ययन में यह बात सामने आयी है।

खुलासा : इस वजह से अक्सर होती है शादीशुदा जिंदगी बर्बाद
सेहत

खुलासा : इस वजह से अक्सर होती है शादीशुदा जिंदगी बर्बाद

अक्सर लोग अपने वैवाहिक जीवन को लेकर परेशान रहते हैं। पारिवारिक कलह की तमाम वजह भी बताई जाती है, लेकिन क्या आपको मालूम है कि एक सफल वैवाहिक जीवन में जीन की अहम भूमिका होती। यह बात हालिया एक शोध में सामने आई है।

धूम्रपान छोड़ने में अधिक प्रभावी साबित हुई ई-सिगरेट
सेहत

धूम्रपान छोड़ने में अधिक प्रभावी साबित हुई ई-सिगरेट

अगर आप धूम्रपान छोड़ने के बारे में सोच रहे हैं तो निकोटिन प्रतिस्थापन उपचार की तुलना में इलेक्ट्रोनिक सिगरेट, जिसे आम तौर पर ई-सिगरेट के रूप में जाना जाता है इस लक्ष्य को हासिल करने में आपकी मदद कर सकती है। एक बड़े क्लीनिकल ट्रायल के नतीजों में इस बात का खुलासा हुआ है।

उद्यमियों में थकावट दूर भगा सकता है ध्यान और योग 
उद्यम

उद्यमियों में थकावट दूर भगा सकता है ध्यान और योग 

वैज्ञानिकों का कहना है कि अच्छी नींद के लिये समय नहीं निकाल पाने वाले उद्यमी तनाव दूर करने वाले ध्यान और योग जैसे मानसिक व्यायाम हर दिन सिर्फ 10 मिनट करके मानसिक शांति और नयी ऊर्जा पा सकते हैं।

WHO का दावा, दुनियाभर में 2030 तक 6.8 करोड़ लड़कियों पर खतने का खतरा 
सेहत

WHO का दावा, दुनियाभर में 2030 तक 6.8 करोड़ लड़कियों पर खतने का खतरा 

दुनिया के जिन देशों में खतना-प्रथा प्रचलित है, वहां अगर यह प्रथा इसी प्रकार चलती रही तो 2030 तक 6.8 करोड़ लड़कियां खतने का शिकार बन सकती हैं। यह विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) का आकलन है।

 महिलाओं का मस्तिष्क उनके हमउम्र पुरुषों की तुलना में तीन साल जवां रहता है : अध्ययन   
सेहत

महिलाओं का मस्तिष्क उनके हमउम्र पुरुषों की तुलना में तीन साल जवां रहता है : अध्ययन   

वैज्ञानिकों का दावा है कि महिलाओं का मस्तिष्क उनके हमउम्र पुरुषों की तुलना में तीन साल जवां रहता है। इस वजह से महिलाओं का दिमाग लंबे अरसे तक तेज़ चलता है। इन वैज्ञानिकों में एक भारतीय मूल का है।

 फेफड़ों के जानलेवा आघात को रोकने में कारगर हो सकती है विटामिन डी की गोलियां    
सेहत

फेफड़ों के जानलेवा आघात को रोकने में कारगर हो सकती है विटामिन डी की गोलियां   

विटामिन डी युक्त अनुपूरक आहार फेफड़े की बीमारी (सीओपीडी) से पीड़ित मरीजों में जानलेवा आघात के खतरे को कम कर सकता है। एक नये अध्ययन में ऐसा दावा किया गया है। ब्रिटेन की क्वीन मेरी यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन के इस अनुसंधान ने विटामिन डी के स्वास्थ्य लाभों की सूची में एक और फायदा जोड़ दिया है।

 सरवाईकल कैंसर के सर्वाधिक मामले 37-45 वर्ष आयुवर्ग की महिलाओं में  
सेहत

सरवाईकल कैंसर के सर्वाधिक मामले 37-45 वर्ष आयुवर्ग की महिलाओं में  

पैथोलॉजी लैब एसआरएल डायग्नॉस्टिक्स द्वारा सरवाईकल कैंसर स्क्रीनिंग के लिए एचपीवी (ह्यूमन पैपीलोमा वायरस) जांच के विश्लेषण में पता चला है कि 31-45 वर्ष आयुवर्ग की महिलाओं में हाई-रिस्क एचपीवी के सबसे ज्यादा (47 फीसदी) मामले पाए गए हैं। 

 अगर आप अच्छी आदतें चाहते हैं अपनाना, तो आपको इन आदतों को पड़ेगा दोहराना
सेहत

अगर आप अच्छी आदतें चाहते हैं अपनाना, तो आपको इन आदतों को पड़ेगा दोहराना

अगर आप जिम जाने और पोषक तत्वों से भरपूर भोजन करने जैसी अच्छी आदतें अपनाना चाहते हैं तो आपको इन आदतों को तबतक दोहराना पड़ेगा, जबतक ये आपकी आदतों से चिपक न जाएं।

सुनने की क्षमता में गिरावट से रुक सकता है मानसिक विकास, ऐसे रहें सावधान 
सेहत

सुनने की क्षमता में गिरावट से रुक सकता है मानसिक विकास, ऐसे रहें सावधान 

सुनने की क्षमता में गिरावट बड़ी उम्र के लोगों की याददाश्त में कमी और डिमेंशिया (मनोभ्रंश) और उसके फलस्वरूप अल्जाइमर रोग का खतरा बढ़ा सकती है। विशेषज्ञों का यह कहना है।

सावधान ! गर्भधारण से बढ़ता है दिल की बीमारी का खतरा
सेहत

सावधान ! गर्भधारण से बढ़ता है दिल की बीमारी का खतरा

बच्चे को जन्म देने वाली महिलाओं को दिल की बीमारी का खतरा उन महिलाओं से ज्यादा रहता है, जिनकी कोई संतान नहीं है। यह बात एक हालिया शोध में प्रकाश में आई है।

 ब्रेन ट्रेनिंग एप ‘डिकोडर’ आपके दिमाग को भटकने से रोकता है, ये है खासियत
गैजेट्स

ब्रेन ट्रेनिंग एप ‘डिकोडर’ आपके दिमाग को भटकने से रोकता है, ये है खासियत

कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने एक खास ब्रेन ट्रेनिंग एप तैयार किया हैं, जो कनेक्टेड दुनिया में लोगों का दैनिक ध्यानभंग होने और एकाग्रता नहीं होने में सुधार करता है।

क्या है डीटॉक्सीफिकेशन? शरीर को चुस्त-दुरुस्त रखने का आसान तरीका
सेहत

क्या है डीटॉक्सीफिकेशन? शरीर को चुस्त-दुरुस्त रखने का आसान तरीका

डीटॉक्सीफिकेशन के दौरान कुछ बातों को ध्यान में रखना अत्यधिक जरूरी है। केवल विशेषज्ञ की मदद से डीटॉक्सीफिकेशन करें।

 बच्चों के पेट के जीवाणु फूड-एलर्जी से बचाव में होते हैं सहायक  
सेहत

बच्चों के पेट के जीवाणु फूड-एलर्जी से बचाव में होते हैं सहायक  

स्वस्थ बच्चों की आंतों में पाए जाने वाले जीवाणु (बैक्टीरिया) उनको भोजन से होने वाली एलर्जी से बचा सकता है। यह बात एक हालिया शोध में सामने आई है।

 कैंसर से लड़ने में कारगर साबित हो सकती है नई स्टेम सेल तकनीक    
सेहत

कैंसर से लड़ने में कारगर साबित हो सकती है नई स्टेम सेल तकनीक   

वैज्ञानिकों ने प्लुरिपोटेंट स्टेम कोशिकाओं को परिपक्व टी कोशिकाओं में बदलने में सक्षम एक नई तकनीक विकसित की है जो ट्यूमर को खत्म करने में कारगर हो सकती है।

गतिहीन जीवनशैली से लोगों में बढ़ रहा मोटापा, ऐसे करें परहेज
सेहत

गतिहीन जीवनशैली से लोगों में बढ़ रहा मोटापा, ऐसे करें परहेज

मोटापा इस समय दुनिया की सबसे बड़ी समस्याओं में से है। इसके बढ़ते खतरे के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए नोएडा स्थित जेपी मल्टी सुपर-स्पेशियालिटी हॉस्पिटल ने एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया, जिसमें लोगों को मोटापे के कारण, रोकथाम तथा पोषण एवं व्यायाम की जरूरतों के बारे में जानकारी दी गई।

उम्र के ढलान पर बीमारियों से बचने के लिए करें ये काम 
सेहत

उम्र के ढलान पर बीमारियों से बचने के लिए करें ये काम 

यदि आप बढ़ती उम्र संबंधी बीमारियों से बचना चाहते हैं और बुढ़ापे में भी स्वस्थ रहना चाहते हैं तो उपवास करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। एक अध्ययन में यह बात सामने आई है।

शोध में हुआ खुलासा, पुरुषों के मुकाबले महिलाएं जल्दी भूल जाती हैं अपना दर्द  
सेहत

शोध में हुआ खुलासा, पुरुषों के मुकाबले महिलाएं जल्दी भूल जाती हैं अपना दर्द  

पुरुष जब दर्द का अनुभव दोबारा करने पर अतिसंवेदनशील रवैया दिखाते हैं, लेकिन महिलाएं अपने दर्द के पूर्व अनुभव से तनाव नहीं लेती हैं।

Health Tips : इन आसान उपायों से मिटाएं मन की घबराहट
सेहत

Health Tips : इन आसान उपायों से मिटाएं मन की घबराहट

घबराहट एक ऐसी मनोदशा है, जिसे मन से निकाल फेंकना बहुत मुश्किल होता है। बेचैनी की इस समस्या से जूझते इंसान की सेहत पर उसके घर की साज-सज्जा का निस्संदेह असर पड़ता है। ऐसे में घर की नई साज-सज्जा से इंसान घबराहट से बच सकता है। घर के भीतर कुछ आकर्षक बदलाव कर घबराहट अपने-आप कम हो सकती है और पीड़ित मानसिक स्तर पर तंदुरुस्त रह सकता है।

...तो इसलिए सर्दियों में बढ़ जाता है अवसाद का खतरा
सेहत

...तो इसलिए सर्दियों में बढ़ जाता है अवसाद का खतरा

सर्दियों के मौसम में अक्सर दिन की लंबाई कम होती है और इस दौरान व्यक्ति को दिन भर में धूप की रोशनी भी कम ही मिलती है, जिसके कारण उनमें सीजनल डिप्रेशन (सीजनल अफेक्टिव डिसऑर्डर ) या ‘विंटर ब्लू’ की स्थिति पैदा हो जाती है। यह डिप्रेशन साल के एक ही समय में होता है और जैसे-जैसे दिन की लंबाई कम होती है डिप्रेशन यानी अवसाद के लक्षण बढ़ते चले जाते हैं।

इन उपायों को अपनाकर ठंड के मौसम में रहें स्वस्थ
सेहत

इन उपायों को अपनाकर ठंड के मौसम में रहें स्वस्थ

सर्दियों में आमतौर पर कार्बोहाइड्रेट्स का सेवन बढ़ जाता है और पानी पीना कम हो जाता है जोकि स्वास्थ्य की दृष्टि से हानिकारक है। चिकित्सकों का कहना है कि ठंड के मौसम में कुछ आसान चीजों को अपनाकर अच्छे स्वास्थ्य को सुनिश्चित किया जा सकता है।

शोध में खुलासा : हैवी फेसबुक यूजर्स नशेड़ी की तरह ले सकते हैं जोखिमभरे फैसले 
सेहत

शोध में खुलासा : हैवी फेसबुक यूजर्स नशेड़ी की तरह ले सकते हैं जोखिमभरे फैसले 

फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म्स का अत्यधिक प्रयोग करने वाले यूजर्स फैसले करने में उतने ही बुरे हो सकते हैं, जितना कोई नशेड़ी होता है। एक नए शोध में यह जानकारी मिली है।

बुरी लतों से हो जाएं सावधान, खत्म हो जाएगी शारीरिक ऊर्जा 
सेहत

बुरी लतों से हो जाएं सावधान, खत्म हो जाएगी शारीरिक ऊर्जा 

भागदौड़ वाली दिनचर्या, अव्यवस्थित जीवनशैली, काम का बोझ और मानसिक तनाव के बीच बुरी लतें मौजूदा दौर में लोगों की परेशानी और बढ़ा रही हैं, क्योंकि उनकी शारीरिक ऊर्जा दिन-ब-दिन क्षीण होती चली जाती है।

विशेष : अच्छी सेहत के लिए पीयें लौंग की चाय
सेहत

विशेष : अच्छी सेहत के लिए पीयें लौंग की चाय

लौंग की भारतीय खाने में खास जगह है। इसके उपयोग से खाने में स्वाद के साथ-साथ सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होते हैं।इसकी तासीर गर्म होने की वजह से गर्मियों की तुलना में सर्दियों में इसका सेवन अधिक किया जाता है।

मधुमेह की जांच अब बिना दर्द के संभव 
सेहत

मधुमेह की जांच अब बिना दर्द के संभव 

स्वीडन के शोधार्थियों ने मधुमेह पीड़ित लोगों के लिए एक माइक्रोनीडल पैच डिजाइन किया है, जिससे आप दर्द महसूस किए बिना पूरे दिन अपने ग्लूकोज स्तर की जांच कर पाएंगे।

सोशल मीडिया पर ज्यादा समय बिताने से लड़कियों में डिप्रेशन का खतरा 
सेहत

सोशल मीडिया पर ज्यादा समय बिताने से लड़कियों में डिप्रेशन का खतरा 

सोशल मीडिया पर बहुत ज्यादा समय बिताने वाली किशोरियों के उनके हमउम्र लड़कों की तुलना में असवाद ग्रस्त होने का खतरा दुगुना होता है। एक नये अध्ययन में ऐसा दावा किया गया है। अपनी तरह के पहले इस अध्ययन में सोशल मीडिया एवं अवसाद के लक्षणों के बीच संबंध देखा गया।

ज्यादा सोशल मीडिया के इस्तेमाल से हो सकता है लड़कियों में डिप्रेशन का खतरा
जीवन शैली

ज्यादा सोशल मीडिया के इस्तेमाल से हो सकता है लड़कियों में डिप्रेशन का खतरा

सोशल मीडिया पर लड़कों की तुलना में ज्यादा समय बिताने वाली किशोरियों में अवसाद का खतरा ज्यादा होने की संभावना होती है।

विशेष : लिट्टी-चोखा स्वाद में ही नहीं, सेहत के लिए भी है लाजवाब
सेहत

विशेष : लिट्टी-चोखा स्वाद में ही नहीं, सेहत के लिए भी है लाजवाब

लिट्टी चोखा बिहार और झारखंड में खायी जाने वाली एक डिश है, लेकिन अब देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी शौक से खाया जाता है। लिट्टी सत्तु से बनता है।

 योग करने से तेजी से सामान्य हो सकता है शुरुआती स्तर का हाई ब्लड प्रेशर 
सेहत

योग करने से तेजी से सामान्य हो सकता है शुरुआती स्तर का हाई ब्लड प्रेशर 

दिल्ली के एक अस्पताल में डॉक्टरों के अध्ययन में सामने आया है कि शुरुआती स्तर के हाई ब्लड प्रेशर से ग्रस्त लोग अगर छह महीने नियमित रूप से योग करें तो उनका ब्लड प्रेशर काफी तेजी से सामान्य हो सकता है। यह अध्ययन सर गंगाराम अस्पताल के न्यूरोफिजियोलॉजी विभाग के शोधकर्ताओं ने किया है।

भारत में नए साल में जन्‍म लेने वाले बच्‍चों की संख्‍या दुनिया में सर्वाधिक : यूनिसेफ
सेहत

भारत में नए साल में जन्‍म लेने वाले बच्‍चों की संख्‍या दुनिया में सर्वाधिक : यूनिसेफ

दुनिया भर में एक जनवरी 2019 को पैदा हुए कुल शिशुओं में से 18 प्रतिशत का जन्म भारत में हुआ है। संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) ने मंगलवार को बताया कि दुनिया भर में नए साल के पहले दिन 3,95,072 शिशुओं में से 69,944 शिशु भारत में पैदा हुए हैं।

कार्यस्थल का कैसे बनाए स्वस्थ माहौल, जानिए ये तरीके  
सेहत

कार्यस्थल का कैसे बनाए स्वस्थ माहौल, जानिए ये तरीके  

एक औसत व्यक्ति जब जाग रहा होता है तो वह करीब अपना आधा वक्त नौकरी करते हुए बिताता है, जिससे चेक का भुतगान, तनाव और अस्वस्थ व्यवहार उसे मुफ्त में मिलता है।

इन तरीकों की मदद से करें सर्दियों में आंखों की देखभाल  
सेहत

इन तरीकों की मदद से करें सर्दियों में आंखों की देखभाल  

नमी बरकरार रखने से सर्दी के मौसम में आंखों को सूखने से बचाया जा सकता है। एक नेत्र विशेषज्ञ ने यह जानकारी दी। कम नमी के कारण सर्दियों में आंखों में सूखापन, खुजली आम समस्या है।

सर्दियों में ऐसे रखें अपने दिल का ख्याल
सेहत

सर्दियों में ऐसे रखें अपने दिल का ख्याल

सर्दियों के मौसम में अस्पताल में भर्ती होने की दर व हृदय गति रुकने (हार्ट फेल) मरीजों की मृत्युदर में अधिकता देखी गई है। इन दिनों अपने दिल का ख्याल कैसे रखें, इसके लिए चिकित्सकों ने कुछ उपाय सुझाए हैं।

नकारात्मक मिजाज खराब सेहत का संकेत, ऐसे रखें ख्याल 
सेहत

नकारात्मक मिजाज खराब सेहत का संकेत, ऐसे रखें ख्याल 

दुख और क्रोध जैसे नकारात्मक भाव सूजन एवं जलन के बढ़े हुए स्तर से संबंधित हैं और ये खराब सेहत का संकेत हो सकते हैं। एक अध्ययन में ऐसा दावा किया गया है।

स्तन कैंसर से पीड़ित महिलाओं के लिए एक और बड़ा खतरा, कराते रहे यह जरूरी जांच 
सेहत

स्तन कैंसर से पीड़ित महिलाओं के लिए एक और बड़ा खतरा, कराते रहे यह जरूरी जांच 

भारत में स्तन कैंसर महिलाओं की मौत का प्रमुख कारण बना हुआ है, लेकिन अब इसके कारण महिलाओं में गर्भाशय कैंसर के मामले भी बढ़ रहे हैं।

सर्दियों में सोरायसिस से हैं परेशान, तो जरूर करें ये उपाय
सेहत

सर्दियों में सोरायसिस से हैं परेशान, तो जरूर करें ये उपाय

सर्दी के मौसम में त्वचा को अतिरिक्त देखभाल की जरूरत होती है, खासतौर से सोरायसिस के मरीजों को इस मौसम में काफी सावधान रहना चाहिए। ठंडे और शुष्क मौसम के कारण सोरायसिस के मरीजों की त्वचा पर लाल रंग की सतह उभरकर सामने आती है और त्वचा बार-बार रूखी-सूखी, फटी और बेजान दिखाई देती है।

सर्दियों में सर्दी-जुकाम से बचाव के लिए घर में ही मौजूद हैं कई उपाय
सेहत

सर्दियों में सर्दी-जुकाम से बचाव के लिए घर में ही मौजूद हैं कई उपाय

सर्दियों के मौसम में ठंड के बढ़ते ही सर्दी, खांसी, बुखार जैसी बीमारियों में बढ़ोतरी हो जाती है। चिकित्सकों का मानना है कि इस मौसम में ठंड से बचने के लिए हम गरम कपड़े तो पहन लेते हैं, मगर ठंड के असर से बचने के लिए शरीर का बाहर के साथ-साथ अंदर से भी गरम रहना जरूरी है।