Lockdown: बंदी के आलम में शादी के बंधन में बंधना है बेहद खास

बेंगलुरू में लक्ष्मी कडाले और एस सतीश की शादी धूमधाम से हो रही है। अब आप कहेंगे कि धूम कैसी जब शादी में लोग ही नजर नहीँ आ रहे। दरअसल जलगांव की रहने वाली लक्ष्मी और बेंगलुरु के सतीश ने लॉकडाउन के दौरान ही शादी करने की ठानी। शादी के आयोजन से पहले कोरोना वायरस और लॉकडाउन के मद्देनजर सावधानियों के बारे में इन्होंने विस्तार से जानकारी ली। शादी के लिए सरकारी परमिशन मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी से ली गई। सरकारी नियमों के मुताबिक लॉकडाउन में शादी में अधिकतम 50 लोग ही शरीक हो सकते हैं। हालांकि कडाले दंपत्ति और इनके परिवार ने शामिल लोगों की संख्या को खुद से घटाकर 30 कर दिया। हलवाई और बाकी कारीगरों को बुलाकर भीड जुटाने के बजाय खाना बाहर से मंगवाया गया। साथ ही इस दौरा मेहमानों के साथ ही दूल्हा और दुल्हन मास्क लगाए नजर आए। वीडियो ग्राफी का इंतजाम तो था, लेकिन फोटो खिंचवाने के लिए मेहमान हों या मेजबान ...अपना चेहरा नहीं दिखा रहे थे। सरकार ने लॉकडाउन के दौरान शादी ब्याह की इजाजत तो दी है। जबकि लोग इसकी आड में नियमों की धज्जियां उडाते देखे जा सकते हैं। ऐसे में लक्ष्मी कडाले और सतीश दंपत्ति लोगों के लिए मिसाल बने हैँ। 

अधिक वीडियो
Advertisement
Back to Top