पुलिस के आगे गिड़गिड़ाया हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का साथी, देखिए कैसे लगा रहा जिंदगी की गुहार

उत्तर प्रदेश के कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या और उसके बाद हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का एनकाउंटर पूरे देश में छाया रहा था। पुलिस अभी भी विकास दुबे के साथियों की तलाश कर रही है। अधिकतर साथी तो मार दिए गए, लेकिन जो बचे हैं उनका क्या हाल है यह इस घटना को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है।
 
विकास दुबे का एक साथी शनिवार को चौबेपुर थाने पहुंचकर सरेंडर कर दिया। एनकाउंटर के डर से उमाकांत शुक्ला उर्फ गुड्डन अपनी पत्नी और बेटी को लेकर सुबह थाने पहुंचा, इस दौरान उसने गले में एक तख्ती लटकाई हुई थी। तख्ती पर उसने विकास दुबे का साथी होने और कानपुर कांड के बाद आत्मग्लानि की बात लिखी थी। वह इतने खौफ में था कि उसके आगे सरेंडर के अलावा कोई और रास्ता बचा नहीं था। 

अधिक वीडियो
Advertisement
Back to Top