हैदराबाद: तेलंगाना में राज्य परिवहन कॉर्पोरेशन के कर्मचारी श्रीनिवास रेड्डी का निधन हैदराबाद के कंचनबाग स्थित अपोलो अस्पताल में हुआ। अपोलो अस्पताल कंचनबाग के पास माहौल गर्म बताया जाता है। बड़ी संख्या में आरटीसी कर्मचारी अपोलो अस्पताल के बाहर जमा हैं। मौके की नजाकत को देखते हुए पुलिस का बड़ा जाप्ता मौके पर तैनात किया गया है।

दरअसल श्रीनिवास खम्मम में आरटीसी ड्राइवर थे। जो जारी TSRTC हड़ताल पर सरकार के रवैये से काफी खफा थे। दावा किया जा रहा है कि घर में टीवी देख रहे श्रीनिवास रेड्डी ने जब मुख्यमंत्री केसीआर का बयान सुना तो वे काफी नाराज हुए और इसी नाराजगी के दौरान उन्होंने खुद को आग लगा ली। आनन फानन में श्रीनिवास को हैदराबाद स्थित अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों के मुताबिक वे नब्बे फीसदी जल गए थे। जिसके बाद आज उनका निधन हो गया।

यह भी पढ़ें:

TSRTC Strike : सीएम केसीआर की घोषणा, 19 अक्टूबर तक बढ़ाई गई छुट्टियां

श्रीनिवास का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल है। जिसमें दर्द में भी वे बार बार अपनी मां और बहन के बारे में पूछ रहे हैं। साथ ही नाराजगी जाहिर कर रहे हैं कि बीस सालों की नौकरी के बाद भी उनके हाथ खाली है। श्रीनिवास रेड्डी के आत्महत्या के बाद आरटीसी के कई अधिकारी भी उनसे सहानुभूति जता रहे हैं। ताजा जानकारी के मुताबिक एक अन्य आरटीसी कर्मचारी ने भी आत्महत्या का प्रयास किया। जिसे साथी कर्मचारियों ने रोक लिया। वहीं मुख्यमंत्री केसीआर हड़ताली कर्मचारियों के खिलाफ सख्ती दिखा रहे हैं। सीएम ने आदेश दिया है कि हड़ताल में शामिल कर्मचारियों को सितंबर की सैलरी नहीं दी जाएगी। मामले में विभिन्न राजनीतिक दलों ने भी दखलअंदाजी दी है। अब देखना है कि ये मामला किस हद तक तूल पकड़ता है।

TSRTC Strike : सरकार और कर्मचारियों की ‘वर्चस्व’ जंग में जनता हुई बेहाल, जानिए क्या है हकीकत