विजयवाड़ा: आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी वादे के पक्के बताए जाते हैं। उन्होंने वित्त मंत्री बुग्गना राजेंद्रनाथ रेड्डी को साफ निर्देश दिया है कि YSRCP के चुनावी वादों को बजट में अहमियत दें। खासकर नवरत्नालु को किसी जुमले की तरह नहीं मानें, बल्कि धरातल पर लोगों को फायदा पहुंचाने के लिए लागू करें। जाहिर तौर पर आगामी 12 जुलाई को आंध्र प्रदेश में आने वाला राज्य सरकार का बजट लोककल्याणकारी होगा। वित्त मंत्री ने बजट तैयार करने से पहले ही कुल 14 विभागों के मंत्रियों और अधिकारियों से राय ली है। जिसको लेकर अधिकारियों ने कड़ी मशक्कत के बाद अपने अपने विभागों का सुझाव भेजा है। बजट में किसानों की सिंचाई समस्या को तवज्जो दिए जाने की उम्मीद है। उम्मीद की जा रही है कि सिंचाई के लिए सवा दो लाख करोड़ रुपए तक का प्रावधान किया जा सकता है। हालांकि सही आंकड़े का पता बजट के सदन पटल पर रखे जाने के बाद ही चल पाएगा। इसी तरह राजधानी निर्माण और पोलवरम को लेकर बजट में अहम उल्लेख मिल सकता है। साथ ही कई नामी कंपनियों और पांच सितारा होटल्स को भू आवंटन पर बजट में प्रावधान हो सकता है। कुल मिलाकर आंध्र प्रदेश के बजट में आम लोगों के हितों को तरजीह देने की बात कही जा रही है।