हैदराबाद के चंदानगर में प्रेमी युगल की आत्महत्या से लोग सकते में हैं। दरअसल एक लॉज में युवक और युवती की लाश मिली, जिनकी पहचान नलगोंडा नारायणपुर मंडल के मोहन नायक और एलबी नगर की रहने वाली स्वर्णलता के तौर पर की गई। पुलिस की तफ्तीश में पता चला कि दोनों एक दूसरे से बेहद प्यार करते थे। स्वर्णलता जहां ऊंची जाति से थी वहीं मोहन गरीब घर का था। बीटेक की पढ़ाई पूरी करने के बावजूद स्वर्णलता को लगता था कि कैब ड्राइवर मोहन के सिवा वो जी नहीं सकती। उसे इस बात की परवाह नहीं थी कि जमाना क्या कहेगा। प्यार जब परवान चढ़ा और बात शादी तक आई तो जमाने ने आखिर विरोध करना शुरू कर दिया। दोनों प्रेमी युगल कमजोर निकले और शादी की मुखालफत को बर्दाश्त नहीं कर सके। तनाव में दोनों ने जहर पीकर खुदकुशी कर ली। पुलिस फिलहाल मामले की तफ्तीश कर रही है।