अमरावती: पेथाई तूफान के कहर ने आंध्र प्रदेश में 26 लोगों की जान ले ली। इसके साथ करीब साढे नौ लाख एकड़ भूमि पर फसल पूरी तरह बर्बाद हो गई। सबसे अधिक तबाही पूर्वी गोदावरी जिले में देखने को मिली।

वहीं श्रीकाकुलम, विशाखा, पश्मिमी गोदावरी, कृष्णा, गुंटूर, प्रकाशम जिलों में भी तूफान का खासा असर देखने को मिला। तूफान के कारण 10866 एकड़ में खड़ी धान की फसल तहस नहस हो गई। इसके अलावा 596 एक एकड़ में तंबाखू और 3988 एकड़ मकई की फसल पूरी तरह बर्बाद हो गई है। साथ ही नारियल, केले और आम के पेड़ो को जबरदस्त नुकसान पहुंचा है।

यह भी पढ़ें:

पेथाई तूफान की ठंड से 26 लोगों की मौत, 9.37 लाख एकड़ में फसल बर्बाद

राज्य सरकार की तरफ से नुकसान का आंकलन किया जा रहा है। लेकिन इसकी भरपाई के लिए कोई कार्ययोजना नजर नहीं आती। किसान परेशान हैं कि उनकी मेहनत मिट्टी में मिल गई। इनका आरोप है कि चंद्रबाबू नायडू की सरकार की कोशिश है कि नुकसान को कम से कम दिखाया जाय। ताकि किसानों को मुआवजा देने से बचा जा सके।