कामकाजी माता-पिता के सामने इस बात की हमेशा चुनौती होती है कि कैसे वह अपने बच्चे की परवरिश करें और कैसे उनको उचित तरीके से गाइड करें। कामकाज के प्रेशर के साथ साथ उनके पास समय का अभाव होता है और वह हर चीज खुद नहीं देख सकते हैं। तो ऐसी स्थिति में उन्हें क्या करना चाहिए और किन बातों को नजरंदाज नहीं करना चाहिए....