बेंगलुरु: कर्नाटक का सियासी नाटक चरम पर है 13 विधायकों के इस्तीफे के बाद कुमारस्वामी की कांग्रेस-जेडीएस सरकार अल्पमत में आ गई है। यहां तक कि निर्दलीय विधायक ने भी सरकार से समर्थन वापस ले लिया है। इस बीच बेंगलुरु में कांग्रेसी विधायकों की अहम बैठक हुई। जिसमें ये तय हुआ कि इस सियासी संकट से सरकार को बचाया जाय। साथ ही एक बार फिर से सरकार का पुनर्गठन किया जाय। हालांकि कुमारस्वामी लाख दावा करें। बैठक के दौरान ही कांग्रेसी विधायकों के बीच फूट नजर आई। साथ ही कांग्रेस के एक विधायक ने बीजेपी में जाने की बात कह दी। इस बीच कुमारस्वामी सरकार के लिए राहत की खबर है कि स्पीकर ने आधिकारिक तौर पर किसी भी विधायक का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है। कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर रमेश कुमार ने साफ कहा कि जिस भी विधायक को इस्तीफा देना होगा, उन्हें उनके पास आना होगा। स्पीकर ने पोस्टल सर्विस के जरिए इस्तीफा मंजूर नहीं करने की बात कही।