रांची: ‘रांची के राजकुमार’ के नाम से मशहूर महेंद्र सिंह धोनी आज 7 जुलाई को 38 साल के हो गए हैं। उनके जन्मदिन पर फैन्स और प्रशंसकों के बीच गजब का उत्साह है। कम ही लोगों को पता होगा कि मीडिया की चकाचौंध से दूर रहने वाले महेंद्र सिंह धोनी किन मुश्किलों के साथ मुकाम पर पहुंचे हैं। धोनी का परिवार मूल रूप से उत्तराखंड का रहने वाला है। पिता पान सिंह तोमर पम्प ऑपरेटर की नौकरी के सिलसिले में झारखंड में शिफ्ट हुए और बमुश्किल एक कमरे का घर मिला। यही धोनी की प्रतिभा परवान पर चढ़ी। धोनी ने टेनिस बॉल से क्रिकेट पर हाथ साफ किया था। यहां तक कि धोनी का चयन जब रणजी के लिए हुआ तो उन्हें खबर तक नहीं मिल पाई थी। और वे अपना पहला मैच ही मिस कर गए थे। धोनी पर लिखी एक किताब के मुताबिक 2016-17 रणजी सीजन में ट्रेन से यात्रा करने के दौरान धोनी को टॉयलेट के आसपास की जगह में सोना पड़ा था, क्योंकि उनके पास रिजर्वेशन नहीं था। आज परिस्थितियां बदल चुकी है। धोनी की जिंदगी पर न सिर्फ कई किताबें प्रकाशित हुईं बल्कि उनके ऊपर एक फिल्म भी बनी है। धोनी आज के दौर में सबसे अधिक कमाई करने वाले दुनिया के दिग्गज खिलाड़ियों में शुमार हैं।