बजट 2019: आधी आबादी को क्या देंगी महिला वित्त मंत्री?


इस बार देश की पहली महिला वित्त मंत्री पूर्णकालिक आम बजट पेश कर रही हैं। लिहाजा महिलाओं की उनसे खास उम्मीदें होनी लाजिमी है। जानने की कोशिश करते हैं कि महिलाओं की बजट से क्या उम्मीदें हैं। इससे पहले फरवरी के अंतरिम बजट में प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के लिए आवंटन 1200 करोड़ से दोगुना कर 2,500 करोड़ रुपये किया गया था। तब वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने तस्दीक की थी कि प्रधान मंत्री मुद्रा योजना की 70 फीसदी लाभार्थी महिलाएं हैं। इस बार के बजट में महिलाओं की पुरानी मांग 80सी के तहत उनको मिलने वाली आयकर छूट सीमा बढ़ाने की है। महिलाओं के लिए सबसे अधिक लोकप्रिय योजना प्रधानमंत्री उज्जवला योजना रही है। जिसके तहत करीब 8 करोड़ महिलाओं को चूल्हे के धुंएं से मुक्ति मिली। अब इस बार के बजट में इस योजना के लक्ष्य को बढ़ाया जा सकता है। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत भी माताओं को कैश लाभ मिला। योजना के तहत गर्भवती व स्तनपान कराने वाली महिलाओं को सरकार नकद 6 हजार रुपए देती है। उम्मीद की जा रही है कि ये राशि इस बार के बजट में और बढ़ाई जा सकती है। देश में सबसे अधिक चर्चा आधी आबादी की सुरक्षा को लेकर होती है। लिहाजा इस बार के आम बजट में सार्वजनिक स्थलों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने जैसे उपायों पर अलग से निधि बनाने की घोषणा हो सकती है। इसके अलावा आधी आबादी की सुरक्षा के लिए महिला पुलिसकर्मियों में इजाफा का फैसला भी लिया जा सकता है। इन सबसे ऊपर महिलाओं की सबसे अधिक चिंता किचन के सामानों की बढ़ती कीमतों पर होती है। अब देखना है कि महिला वित्त मंत्री घरेलू बजट का कितना खयाल रख पाती हैं। 
अधिक वीडियो
Advertisement
Back to Top