हैदराबाद: आज ही के दिन 14 मई सन् 2014 को संयुक्त आंध्र प्रदेश में विकास और बदलाव को हवा मिली थी। इसी दिन डॉ.वाईएस राजशेखर रेड्डी ने एकीकृत आंध्र प्रदेश में बतौर मुख्यमंत्री पद और गोपनीयता की शपथ ली थी। सबको पता है कि वाईएसआर के सत्ता में आने के बाद सरकार की कल्याणकारी नीतियों ने लोगों का खूब भला किया। मीलों पदयात्रा और लोगों का भरोसा जीतने के बाद वाईएसआर ने जिस तरह की प्रशासनिक क्षमता दिखाई। उसके आज भी लोग कायल हैं। कहा तो ये भी जाता है कि आंध्र में वाईएसआर का शासनकाल किसी स्वर्णयुग जैसा था। इस दौर में आम लोगों की पहुंच सरकार के गलियारे तक थी। साथ ही नीतियां समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को ध्यान में रखकर बनाई जाती थी। तभी तो दिवंगत मुख्यमंत्री वाईएसआर को खोने के बावजूद आज भी लोग उन्हें बेहद आदर के साथ दिलों में जगह देते हैं। साथ ही बेहतर शासन के लिए YSR के कार्यकाल का ही हवाला दिया जाता है।