13 अप्रैल 2019 को सुबह 8 बजे से 14 अप्रैल शाम 6 बजे तक रामनवमी का बेहद शुभ मुहूर्त बताया जाता है। इस साल रामनवमी पर जो योग बन रहा है उसी योग में भगवान राम का जन्म हुआ था। आज देवी के आखिरी स्वरूप की पूजा हो रही है। पूजा के साथ ही हवन का खास महत्व होता है। इस दिन भंडारा करने से भाग्योदय होता है। नौवां दिन नवरात्र पर्व का अंतिम दिन होता है। ये महानवमी के रूप से भी जाना जाता है. इस दिन लोग कन्या पूजन करते हैं। लोग घर में नौ या 11 लड़कियों को भोजन कराते हैं। इन लड़कियों को मां दुर्गा के नौ रूपों का प्रतीक माना जाता है। लड़कियों को भोजन कराने से पहले उनके पैर धोए जाते हैं। भोजन के अंत में लड़कियों को तरह-तरह के उपहार दिए जाते हैं।