गुंटूर जिले के सत्तेनपल्ली में सरभैया स्कूल में 500 साइकिलें जला दी गईं। माना जाता है कि राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना ‘बडिकीवस्तावा पदकम’ मतलब ‘स्कूल चलें हम’ स्कीम के तहत साइकिलें बांटी जानी थीं। जिन्हें जला दिया गया, और बच्चों को सरकारी सुविधा से महरूम कर दिया गया। कहा जा रहा है कि स्थानीय लोगों ने आक्रोश में ये कार्रवाई की है। इन्हें गुस्सा इस बात को लेकर है कि साइकिलें सत्र बीतने और स्कूल बंद होने की स्थिति में मुहैया कराई जा रही है। जिसका फायदा पूरे साल बच्चों को नहीं मिला। लोगों ने तो यहां तक शिकायत की कि चंद्रबाबू सरकार की ये योजना पूरी तरह फेल है। फिलहाल पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।