हैदराबाद: पूर्व आईपीएस और पटना महावीर मंदिर न्यास के सचिव किशोर कुणाल के मुताबिक बाबर सहिष्णु था। साथ ही कुणाल ने दावा किया कि बाबर का हाथ अयोध्या स्थित राम मंदिर को तोड़ने में नहीं रहा। सुनिए कुणाल ने साक्षी संवाददाता से बातचीत के दौरान क्या दलील दी।