गोड्डा: झारखंड के गोड्डा में बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे का तमाशा चर्चा में है। यहां कलाली कन्हवारा पुल के शिलान्यास के दौरान निशिकांत ने तो जैसे खुद को राम का अवतार ही मान लिया। तभी तो कार्यकर्ता पवन शाह की चिरौरी पर सांसद ने अपना पैर पानी भरी थाली में डाल दिया। फिर सियासत की अंधभक्ति में कार्यकर्ता ने वहीं गंदा पानी गले के नीचे उतार लिया। सांसद महोदय को यह सब देखते हुए खुद के राम होने का आत्मबोध हो रहा था, वहीं केवट की भूमिका में पवन शाह ने सियासी खुशामद की पराकाष्ठा ही पार कर ली। जब मीडिया में इस बात की आलोचना होने लगी, तो सांसद महोदय दलील देते फिर रहे हैं कि यह तो झारखंड की परंपरा है।