आज वेलेंटाइन डे है, यानी अपनी भावनाओं को अपने पार्टनर्स से व्यक्त करने का दिन। इस वीक हमने आपको देश कई चर्चित लव स्टोरियों के बारे में बताया। लेकिन आज हम आपको देश एक चर्चित और विवादित लव स्टोरी के बारे में बताएंगे। जिसे जानकर आप जरूर चौंक जाएंगे। इस लव स्टोरी में त्रिकोणीय प्रेम, धोखा और दर्द है। यह भारतीय सिनेमा की किसी स्क्रिप्ट जैसी लगती है। यह कहानी है टीम इंडिया के ओपनिंग बल्लेबाज मुरली विजय, विकेट कीपर दिनेश कार्तिक और उनकी पूर्व पत्नी निकिता की।

टेस्ट क्रिकेट में टीम इंडिया के भरोसेमंद ओपनर मुरली विजय ने अपने साथी क्रिकेट और बचपन के दोस्त दिनेश कार्तिक को ऐसा दर्द दिया था, जिसे जानने के बाद हर कोई सकते में आ गया था। कार्तिक और मुरली विजय कभी अच्छे दोस्त हुआ करते थे, दोनों तमिलनाडु के लिए साथ में खेलते थे और विरोधियों के छक्के छुड़ाते थे, लेकिन दिनेश कार्तिक को कहां पता था कि जब वह मैदान में रनों की बारिश कर रहे होते थे तो उनका सबसे अजीज दोस्त उनकी बीवी से चुपचाप इश्क लड़ा रहा होता था।

इन्हें भी पढ़ें

Kiss Day पर इन खूबसूरत गानों से करिए अपने लव वन को विश..

वैलेंटाइन डे चैलेंज: महिलाओं ने डेट के लिए किया प्रपोज, तो ऐसे-ऐेसे मिले जवाब

अब मिसेज मुरली विजय के नाम से पहचानी जानी वाली निकिता कभी मिसेज दिनेश कार्तिक कही जाती थीं। निकिता और दिनेश का प्यार बचपन का था, दोनों ने साथ में खेलते हुए बड़े हुए थे। दोनों के परिवार भी एक दूसरे जानते थे। बचपन की दोस्ती वक्त के साथ कब मोहब्बत में बदल जाती है, यह पता ही नहीं चलता। परिवार की सहमति से कार्तिक और निकित ने 2007 में शादी रचा ली। दोनों के बीच सब कुछ ठीक चल रहा था। निकिता के प्रेग्नेंट होने से परिवार को नए मेहमान का इंतजार था, लेकिन इस बीच निकित और मुरली विजय में मोहब्बत के किस्से आम हो गए। जिसके बाद कार्तिक ने खुद को निकिता से अलग कर लिया।

कार्तिक से अलग होने के बाद निकित ने एक बेटे को जन्म दिया। जिस पर कार्तिक ने कभी हक नहीं जताया। बेटे से ये दूरी रिश्तों में तल्खी और धोखे की कहनी खुद बयां करती है। इस घटना के बाद निकित ने मुरली विजय से शादी कर ली। आज निकित विजय के साथ खुश हैं।

निकित और उनके बेटे को विदेशी दौरों पर कई बार साथ में भी देखा गया है। वहीं कार्तिक ने भी भारतीय स्कवैश प्लेयर दीपिक पल्लिकल से दूसरी शादी कर ली है। दीपिका को स्कवॉश की मारिया शारापोवा भी माना जाता है।ॉ