नई दिल्ली : दक्षिण पूर्व एशिया के खूबसूरत शहर सिंगापुर में केबल कार पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है, जिसमें उन्हें आसमान से इस द्वीपीय देश का नजारा देखने को मिलता है। सिंगापुर की केबल कार नेटवर्क कंपनी बताती है कि 1974 से आरंभ हुई इस केबल कार सेवा का लुत्फ अब तक करीब पांच करोड़ लोग उठा चुके हैं और सिंगापुर आने वाले पर्यटकों में इसका आकर्षण लगातार बढ़ता जा रहा है।

कंपनी के एक अधिकारी ने बताया कि केबल कार में स्वादिष्ट व्यंजन का लुत्फ उठाना पर्यटकों के लिए काफी आनंदायक होता है।

केबल कार
केबल कार

सिंगापुर में केबल कार स्काई नेटवर्क की दो लाइनें हैं..माउंट फेबर लाइन और सेंटोसा लाइन। माउंट फेबर लाइन में केबल कार में सैलानी फेबर की चोटी से लेकर हार्बरफ्रंट सेंटर और सेंटोसा की आसमानी सैर का आनंद लेते हैं, तो सेंटोसा लाइन में उनको पूरे द्वीप के कई आकर्षक पर्यटक स्थलों को देखने का मौका मिलता है।

दक्षिण पूर्व एशिया का खूबसूरत शहर सिंगापुर भारतीय पर्यटकों के लिए हमेशा ही पसंदीदा पर्यटन स्थल रहा है। अवकाश का सुखंद आनंद विदेशों में उठाने की ख्वाहिश रखने वाले भारतीय पर्यटकों अक्सर इस द्वीपीय देश का रुख करते हैं। सिंगापुर की एक लाइफ स्टाइल कंपनी के अधिकारी बताते हैं कि इसकी बड़ी वजह यह है कि पर्यटक सिंगापुर में अपने को सुरक्षित पाते हैं। साथ ही वहां की नाइट लाइफ, केबल कार नेटवर्क और खान-पान और आधुनिकता की चकाचौंध लोगों को खूब भाती हैं।

केबल कार
केबल कार

केबल कार की सेवा प्रदान करने वाली सिंगापुर का लाइफ स्टाइल ब्रांड वन फेबर ग्रुप ने इस साल अपने केबल कार नेटवर्क के 45 साल पूरे होने पर विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया है, जो पूरे साल चलेगा। कंपनी को उम्मीद है कि इस साल सिंगापुर में भारतीय पर्यटकों की तादाद बढ़ सकती है। इसी सिलसिले में वन फेबर ग्रुप की सहायक कंपनी माउंट फेबर लीजर के डायरेक्टर (सेल्स-बिजनेस डेवलपमेंट) हाल में दिल्ली में थे।

पैट्रिक ली ने आईएएनएस को बताया कि केबल कार नेटवर्क के 45 साल पूरे होने के मौके पर पर्यटकों के लिए खास मनोरंजक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है, जो उन्हें बहुत पसंद आएंगे।

केबल कार
केबल कार

पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए कंपनी की ओर से की जाने वाली किसी पेशकश के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि इन मनोरंजक कार्यक्रमों के लिए कोई अलग से फीस देने या खर्च करने की जरूरत नहीं है।

उन्होंने कहा कि वह उम्मीद करते हैं कि इस साल भारतीय पर्यटकों की तादाद में 40 फीसदी की वृद्धि हो सकती है। सिंगापुर पर्यटन बोर्ड के अनुसार, सिंगापुर की सैर करने वाले सैलानियों की आबादी पिछले साल के मुकाबले 16 फीसदी बढ़ी है। 2018 में करीब 13.2 लाख भारतीय पर्यटकों ने सिंगापुर की सैर की थी।

पैट्रिक ने कहा कि सिंगापुर जाने वाले करीब 32 फीसदी भारतीय पर्यटक केबल कार और सेंटोसा की सैर जरूर करते हैं। उन्होंने कहा कि सिंगापुर सुरक्षा के लिहाज से पर्यटकों के लिए बेहतर पर्यटन स्थल है इसलिए भारतीय पर्यटक दक्षिण-पूर्वी एशिया में सबसे ज्यादा सिंगापुर को पसंद करते हैं। उन्होंने कहा कि ज्यादातर बिजनेस मीटिंग के लिए व्यवसायी विदेशों में सिंगापुर को ही पसंद करते हैं। उन्होंने कहा कि भारत में जब स्कूलों में बच्चों की छुट्टियां होती है तब सिंगापुर में भारतीय सैलानियों की तादाद बढ़ जाती है।

केबल कार
केबल कार

सिंगापुर आज दक्षिण-पूर्व एशिया में पर्यटन और व्यापार का एक बड़ा केंद्र है। खासतौर से भारतीय कारोबारी अपने व्यावसायिक बैठकों के लिए भी सिंगापुर जाना पसंद करते हैं। मनोरंजन, व्यापार, जीवनशैली, प्रौद्योगिकी समेत अनेक क्षेत्र के लोगों के लिए सिंगापुर पसंदीदा शहर है।

सिंगापुर के संग्रहालय, उद्यान और गगनचुंबी इमारतें और छोटे-छोटे द्वीपों की प्राकृतिक सुषमा लोगों को भाती है। जुरोंग बर्ड पार्क, रेप्टाइल पार्क, जूलॉजिकल गार्डन, साइंस सेंटर, सेंटोसा द्वीप, हिन्दू, चीनी व बौद्ध मंदिर तथा चीनी व जापानी बाग यहां के आकर्षक दर्शनीय स्थल हैं।

ये भी पढ़ें: भारत के शीर्ष 10 लोकप्रिय पर्यटन स्थल में 5 केरल के