Mon Sep 23, 2019 Telugu English E-Paper Education
ब्रेकिंग न्यूज़
मध्य प्रदेश के 15 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, यलो अलर्ट जारी
कर्नाटक: अयोग्य विधायकों की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नोटिस
असम: डेमू में NH-37 पर बस-टेम्पो के बीच टक्कर, 10 लोगों की मौत, कई घायल
श्चिम बंगाल: सीएम ममता बनर्जी बोलीं- लोकतंत्र में विरोध प्रदर्शन होना है जरूरी
  दिल्ली: जंतर मंतर पर पाकिस्तान के खिलाफ धरना प्रदर्शन  

`sriharikota` से सम्बंधित परिणाम

दुनिया में बजा भारत का डंका, चंद्रयान-2 ले जाने वाले GSLV-MK 3  का सफल प्रक्षेपण
राष्ट्रीय

दुनिया में बजा भारत का डंका, चंद्रयान-2 ले जाने वाले GSLV-MK 3  का सफल प्रक्षेपण

चांद पर भारत के दूसरे महत्वाकांक्षी मिशन चंद्रयान-2 को आज श्रीहरिकोटा से जीएसएलवी-मार्क III-एम1 के जरिए प्रक्षेपित किया जाएगा। चेन्नई से लगभग 100 किलोमीटर दूर सतीश धवन अंतरिक्ष केन्द्र में दूसरे लॉन्च पैड से चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण दोपहर दो बजकर 43 मिनट पर किया जायेगा। इस मिशन की लागत 978 करोड़ रुपये है। 

चंद्रयान-2 : चार दिन बाद चांद पर पहुंचेगा भारत, इसरो ने दी ये जानकारी 
राष्ट्रीय

चंद्रयान-2 : चार दिन बाद चांद पर पहुंचेगा भारत, इसरो ने दी ये जानकारी 

भारत का चांद पर दूसरा मिशन चंद्रयान-2 जो कुछ तकनीकी खराबी के कारण रोक दिया गया था अब वह 22 जुलाई को प्रक्षेपित किया जाएगा।

चंद्रयान-2 : तकनीकी खामी के कारण लॉन्चिंग टली, जल्द होगी नई तारीख की घोषणा 
राष्ट्रीय

चंद्रयान-2 : तकनीकी खामी के कारण लॉन्चिंग टली, जल्द होगी नई तारीख की घोषणा 

भारत ने सोमवार तड़के होने वाले चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण को तकनीकी खामी की वजह से टाल दिया। इसके लिए अब नई तारीख की घोषणा की जाएगी। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने ट्वीट किया, ‘‘प्रक्षेपण यान प्रणाली में टी-56 मिनट पर तकनीकी खामी दिखी। एहतियात के तौर पर चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण आज के लिए टाल दिया गया है। नई तारीख की घोषणा बाद में की जाएगी।’’

चांद के अनछुए हिस्से तक पहुंचने के लिए इसरो भेज रहा अंतरिक्ष यान, उल्टी गिनती शुरू
राष्ट्रीय

चांद के अनछुए हिस्से तक पहुंचने के लिए इसरो भेज रहा अंतरिक्ष यान, उल्टी गिनती शुरू

यह किसी खगोलीय पिंड पर उतरने का इसरो का पहला अभियान है और यह 2008 में प्रक्षेपित चंद्रयान-1 की ही अगली कड़ी है।

 28 विदेशी उपग्रहों के सफलतापूर्वक प्रक्षेपण के बाद स्पेस टेक्नोलॉजी में भारत का अहम स्थान  
गैजेट्स

28 विदेशी उपग्रहों के सफलतापूर्वक प्रक्षेपण के बाद स्पेस टेक्नोलॉजी में भारत का अहम स्थान  

इसरो के भरोसेमंद प्रक्षेपण यान पीएसएलवी से भारत के एमीसैट उपग्रह और विदेशी ग्राहकों के 28 नैनो उपग्रहों का सोमवार को यहां सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया गया।

इसरो ने स्वदेशी सैटेलाइट हाइसइस लॉन्च किया, 8 देशों के 30 उपग्रह भी अंतरिक्ष में भेजे 
राष्ट्रीय

इसरो ने स्वदेशी सैटेलाइट हाइसइस लॉन्च किया, 8 देशों के 30 उपग्रह भी अंतरिक्ष में भेजे 

इनमें से 23 सेटेलाइट अमेरिका के हैं। इसरो के मुताबिक, उल्टी गिनती बुधवार की सुबह 5.58 बजे शुरू हुई।

इसरो ने GSLV-MK-3 D2 लांच करके हासिल की बड़ी सफलता
राष्ट्रीय

इसरो ने GSLV-MK-3 D2 लांच करके हासिल की बड़ी सफलता

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने सफलतापूर्वक GSLV-MK-3rd-D2 रॉकेट लॉन्च किया है, जो जीएसएटी -29- देश के उच्च थ्रुपुट संचार उपग्रह को जियोस्टेशनरी ट्रांसफर ऑर्बिट (जीटीओ) में रखेगा।

ISRO आज लॉन्च करेगा GSAT-6A, जानिए किन खूबियों से लैस है यह सैटेलाइट
समाचार

ISRO आज लॉन्च करेगा GSAT-6A, जानिए किन खूबियों से लैस है यह सैटेलाइट

संचार उपग्रह जीसैट-6ए के साथ इसरो के जीएसएलवी-एफ08 मिशन के श्रीहरिकोटा के अंतरिक्ष केन्द्र से प्रक्षेपण की उल्टी गिनती शुरू हो गई। इसरो ने बुधवार को कहा कि गुरुवार को प्रक्षेपित होने वाले मिशन की उल्टी गिनती मिशन तैयारी समीक्षा समिति और प्रक्षेपण अधिकार बोर्ड से मंजूरी के बाद दिन में एक बजकर 56 मिनट पर शुरू हुई। 

अंतरिक्ष में भारत का ‘शतक’, 3 स्वदेशी और 28 विदेशी उपग्रहों का प्रक्षेपण
समाचार

अंतरिक्ष में भारत का ‘शतक’, 3 स्वदेशी और 28 विदेशी उपग्रहों का प्रक्षेपण

अंतरिक्ष में भारत इसरो की मदद से अपना शतक पूरा करने जा रहा है। शुक्रवार को जैसे ही 9.28 मिनट पर भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) PSLV में 31 उपग्रहों का प्रक्षेपण करेगा, यह उपलब्धि हमारे देश को हासिल हो जाएगी।

नए साल में इतिहास रचेगा भारत, एक साथ 31 उपग्रह करेगा लॉन्च
समाचार

नए साल में इतिहास रचेगा भारत, एक साथ 31 उपग्रह करेगा लॉन्च

अंतरिक्ष की दुनिया में भारत एक और इतिहास रचने की तैयारी कर रहा है। इस क्रम में 10 जनवरी को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित अंतरिक्ष केंद्र से पृथ्वी अवलोकन उपग्रह काटरेसैट सहित 31 उपग्रहों का प्रक्षेपण किया जाएगा।