Wed Dec 11, 2019 Telugu English E-Paper Education
ब्रेकिंग न्यूज़
श्रीहरिकोटा से इसरो आज लॉन्च करेगा रीसैट-2बीआर1, राडार इमेजिंग की बढ़ेगी ताकत
मुंबई : भारत-वेस्टइंडीज के बीच तीसरा मुकाबला आज, सीरीज जीतने पर दोनों टीमों की नजर
अमेरिका के न्यू जर्सी में फायरिंग, एक पुलिस अधिकारी समेत 6 लोगों की मौत
हैदराबाद एनकाउंटर के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका पर आज होगी सुनवाई
राज्यसभा में आज नागरिकता संशोधन बिल किया जाएगा पेश, लोकसभा में हो चुका है पास

`padayatra diary` से सम्बंधित परिणाम

331वें दिन की पदयात्रा डायरी, जारी श्वेतपत्र में है झूठ ही झूठ
प्रजा संकल्प यात्रा

331वें दिन की पदयात्रा डायरी, जारी श्वेतपत्र में है झूठ ही झूठ

सरकार ने श्वेतपत्र जारी किया है। श्वेतपत्र में स्पष्ट किया गया है कि राजनीतिक भेदभाव भूलकर सभी योग्य व्यक्तियों को कल्याणकारी कार्यक्रमों का लाभ पहुंचाया गया है। किसी के साथ भी मतभेद नहीं किया गया है। श्रीकाकुलम जिले के पोंदुरु मंडल में लगभग 900 लोगों का पेंशन रोक दिया गया है। क्या यह सच नहीं है? सरकार के फैसले के विरोध में ये सभी कोर्ट गये। 

328वें दिन की पदयात्रा डायरी, गरीबों की मुआवजा को लूट लेने वालों को क्या कहा जाएं?
प्रजा संकल्प यात्रा

328वें दिन की पदयात्रा डायरी, गरीबों की मुआवजा को लूट लेने वालों को क्या कहा जाएं?

आमुदालवलसा शुगर फैक्ट्री से लेकर जिले के जुट मिल और फेरो अल्लाय फैक्ट्री तक आपके शासनकाल में ही बंद हुए है क्या यह सच नही है? कर्मचारी कह रहे है कि इन फैक्ट्रियों के बंद होने के लिए आप जिम्मेदार है। दूसरी ओर आप धर्मपोराट सभा में कहा है कि श्रीकाकुलम को नई-नई फैक्ट्री ले आऊंगा। 

326वें दिन की पदयात्रा डायरी : जन सामान्य के जीने का अधिकारी  छीन लेना अमानवीय कृत्य है ‘बाबूजी’
प्रजा संकल्प यात्रा

326वें दिन की पदयात्रा डायरी : जन सामान्य के जीने का अधिकारी छीन लेना अमानवीय कृत्य है ‘बाबूजी’

लोग चिल्ला-चिल्लाकर कह रहे है कि पीने को पानी नहीं मिल रहा है। लोगों को यह भी मालूम है कि यहां का पानी पीने के कारण किडनी जैसी बीमारी आएगी। मगर बिना किसी उपाय के ये लोग वहीं पानी पीने को मजबूर है। आपके एनटीआर के सुजला योजना का क्या हुआ? आपके चुनावी घोषणापत्र में इस योजना के तहत शुद्ध पेयजल, हर बस्ती में नि:शुल्क नल, दो रुपये में ही 20 लिटर मिनरल वाटर का उल्लेख है। आखिल क्या आपकी घोषणापत्र भी लोगों को धोखा देने के लिए ही है?

324वें दिन की पदयात्रा डायरी, क्या इस दुख भरी घटना के बाद किसान विरोधी सरकार की आंखें खुलेगी?
प्रजा संकल्प यात्रा

324वें दिन की पदयात्रा डायरी, क्या इस दुख भरी घटना के बाद किसान विरोधी सरकार की आंखें खुलेगी?

एक मुख्यमंत्री होने के नाते विश्व में कहीं पर भी नहीं है ऐसी तकनीकी का उपयोग करके तूफान से होने वाले नुकसान को पूरी तरह से कम करने और एक व्यक्ति भी नहीं मरा कहना क्या सच्चाई के विरुद्ध नहीं है? केवल आईएमडी की रिपोर्ट पर आधारित होकर और उसी समाचार को महान उपलब्धी बताकर क्या आपको अच्छा लग रहा है? 

314वें दिन की पदयात्रा डायरी, YSR  योजनाएं देश-विदेशों में लोकप्रिय होना गर्व की बात है..
प्रजा संकल्प यात्रा

314वें दिन की पदयात्रा डायरी, YSR योजनाएं देश-विदेशों में लोकप्रिय होना गर्व की बात है..

एक नहीं.. दो नहीं..लगभग सभी जिले के हजारों लोग अपने रोके गये पेंशन के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाना क्या शर्म की बात नहीं है? बिना कोर्ट गये ऐसे लाख लोग है क्या यह सच नहीं है? दूसरी ओर सभी को पेंशन दिये जाने का डंका बजा लेना पाखंड नहीं तो और क्या है? योग्यता होने पर भी पेंशन को रोक देना और सभी को पेंशन दिया गया जैसा प्रचार करना किसको धोखा देने के लिए यह सब?

312वें दिन की पदयात्रा डायरी, क्या संकट की घड़ी में मौके की तलाश करना इसे ही कहते है बाबू?
प्रजा संकल्प यात्रा

312वें दिन की पदयात्रा डायरी, क्या संकट की घड़ी में मौके की तलाश करना इसे ही कहते है बाबू?

तूफान और बाढ़ जैसे प्राकृतिक आपदा के दौरान किसी प्रकार की सहायता नहीं मिलना क्या अन्याय नहीं है? मगर आप बड़े पैमाने पर प्रचार-प्रसार करना और राजनीति स्वार्थ के लिए निधियों को स्वाह करना क्या यह न्याय है? क्या संकट की घड़ी में भी मौके की तलाश करना इसे ही कहते है बाबू?

 313 वें दिन की डायरी, क्या गरीब और कमजोर तबकों के छात्रों का कल्याण यही है ?
प्रजा संकल्प यात्रा

313 वें दिन की डायरी, क्या गरीब और कमजोर तबकों के छात्रों का कल्याण यही है ?

आपने मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेते ही एससी, एसटी, अल्पसंख्यक और ईबीसी छात्रों को हर महीने स्कॉलरशिप देने का आश्वासन दिया था। इस आश्वासन को पूरा नहीं किया। इसके बाद आपने अधिकारियों से कहलवाया कि तीन महीने में एक बार स्कॉलशिप दिया जाएगा। ऐसा भी नहीं हुआ।

308वें दिन की पदयात्रा डायरी, बाबू आपके नाम को याद रखने वाली क्या कोई एक योजना है?
प्रजा संकल्प यात्रा

308वें दिन की पदयात्रा डायरी, बाबू आपके नाम को याद रखने वाली क्या कोई एक योजना है?

108 का नाम ले तो वाईएसआर याद आते है। आरोग्यश्री का नाम ले तो भी वाईएसआर याद आते है। फीस पुनर्भुतान का नाम ले तो भी वाईएसआर का नाम याद आता है। इस प्रकार युग बदला जाये मगर न बदलनेवाले अनेक योजनाएं हैं। आपके नाम को याद रखने वाली क्या कोई एक योजना है?

306वें दिन की पदयात्रा डायरी, शिलान्यास करके राम भरोसे छोड़ना चंद्रबाबू की है आदत 
प्रजा संकल्प यात्रा

306वें दिन की पदयात्रा डायरी, शिलान्यास करके राम भरोसे छोड़ना चंद्रबाबू की है आदत 

तत्कालीन तोटपल्ली, हंद्री-नीवा अन्य.. आज की गोदावरी-पेन्ना अनुसंधान करने तक हर काम केवल चुनाव के पहले लोगों को गुमराह करने के लिए नहीं तो और क्या है? परियोजनाओं से भी अधिक आपकी शिलापट अधिक है, क्या यह सच नहीं है? इन साड़े चार सालों तक कुछ भी नहीं किया है। 

305वें दिन की डायरी, बैंकों से 6 हजार करोड़ रुपये लूटने वाले साथी के बारे में क्या जवाब दोगे बाबू?
प्रजा संकल्प यात्रा

305वें दिन की डायरी, बैंकों से 6 हजार करोड़ रुपये लूटने वाले साथी के बारे में क्या जवाब दोगे बाबू?

आपने ड्वाक्रा महिला संघों की बहनों के साथ धोखा दिया है। बिना किसी गलती के ड्वाक्रा संघों की महिलाओं को अदालतों की सीढ़ी चढ़ा रहे हैं। फिर आपका अत्यंत करीबी बेनामी। जिसे सभी लोग अच्छी तरह से जानते है। आपने उसे केंद्रीय मंत्री भी बनाया है। उसने बैंकों से लगभग 6 हजार करोड़ रुपये लूट लिया है। क्या ऐसे व्यक्ति के बारे में क्या आपके पास कोई जवाब है?

303वें दिन की डायरी : बाबूजी.. क्या इन साढ़े चार सालों में एक भी वृद्धाश्रम खोल पाए आप..?
प्रजा संकल्प यात्रा

303वें दिन की डायरी : बाबूजी.. क्या इन साढ़े चार सालों में एक भी वृद्धाश्रम खोल पाए आप..?

आपके चुनावी घोषणापत्र के सातवें पेज में मुख्य बातें है। हर निर्वाचन क्षेत्र में एक वृद्धाश्रम स्थापित करने का आश्वासन दिया गया। क्या इन साड़ चार सालों में प्रदेश एक तो भी वृद्धाश्रम बनाया है? आदिवासियों के पास से केवल 20 रुपये में एक किलोग्राम इमली को खरीदी की जा रही है। आपके हेरिटेज में मात्र एक किलोग्राम इमली को 326 में बेच रहे है। क्या आपके पास इस सवाल का जवाब है?

302वें दिन की पदयात्रा डायरी, गिरीजन मंत्री पद देना चुनावी नजराना नहीं तो और क्या है?
प्रजा संकल्प यात्रा

302वें दिन की पदयात्रा डायरी, गिरीजन मंत्री पद देना चुनावी नजराना नहीं तो और क्या है?

क्या यह सच नहीं है आप सत्ता में आये तब से एजेंसी क्षेत्रों में माता-शिशुओं की मौतों की संख्या में काफी बढ़ोत्तरी हुई है? ऐसा होने के पिछे पौष्टिक आहार, खून की कमी और चिकित्सा सुवाधि उपलब्ध नहीं करवाया जाना क्या आपकी जिम्मेदारी नहीं है?

299वें दिन की डायरी : स्वतंत्र जांच एजेंसी से परहेज क्यों कर रहे बाबू 
आंध्र-प्रदेश राजनीति

299वें दिन की डायरी : स्वतंत्र जांच एजेंसी से परहेज क्यों कर रहे बाबू 

आप आपने खिलाफ लगे किसी भी आरोप की जांच आपके अधीन नहीं रहने वाली स्वतंत्र एजेंसी से निष्पक्ष जांच कराने में क्यों पीछे हट रहे हैं? आपके 40 वर्षों के राजनीतक करियर में आपके खिलाफ किसी भी जांच न हो, इसलिए राज्य में जांच एजेंसियों पर रोक लगाने जैसे कार्रवाइयों से आप खुद को दोषी साबित करना क्या सच नहीं है? 

298वें दिन की डायरी : जब शासक हैं रिश्वतखोर तो सजा किसानों को क्यों ?
आंध्र-प्रदेश राजनीति

298वें दिन की डायरी : जब शासक हैं रिश्वतखोर तो सजा किसानों को क्यों ?

चंद्रबाबू नायडू की सरकार बनती है तो राज्य के गन्ना किसानों की परेशानियां बढ़ जाती हैं। स्थानीय शुगर फैक्ट्री पिछले तीन वर्षों से यहां के गन्ना किसानों को समय पर भुगतान नहीं कर रही है, जिससे किसानों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। 

297वें दिन की पदयात्रा डायरी, कृषि को बेकार कहने वाले शासकों को किसानों की मुश्किलें कैसे दिखाई देगी?
आंध्र-प्रदेश राजनीति

297वें दिन की पदयात्रा डायरी, कृषि को बेकार कहने वाले शासकों को किसानों की मुश्किलें कैसे दिखाई देगी?

मुख्यमंत्री से मेरा एक सवाल...मच्छरों के जरिए होने वाली डेंगू, मलेरिया, हाथी-पैर और विष ज्वर जैसी बीमारियां प्रदेश में फैलती ही जा रही है। फिर मच्छरों के खिलाफ लड़ाई करने के आपके आश्वासन का क्या हुआ है?

296वें दिन की पदयात्रा डायरी, पीड़ितों को कोर्ट में खिंचाई करने की धमकी कैसे देते हैं बाबू?
प्रजा संकल्प यात्रा

296वें दिन की पदयात्रा डायरी, पीड़ितों को कोर्ट में खिंचाई करने की धमकी कैसे देते हैं बाबू?

मुख्यमंत्री से मेरा एक सवाल...प्रदेश भर में 23 हजार खाली पद है। इनमें से औसतन तीन प्रतिशत पदों की डीएससी संचालित नहीं की गई है। क्या यह अन्याय नहीं है? क्या यह रवैया सरकार की स्कूलों को पतनावस्था में ले जाकर निजी शिक्षण संस्थाओं को लाभ पहुंचाने वाला नहीं है?

287वें दिन की पदयात्रा डायरी, खिलाड़ियों की  नहीं करते मदद, मगर चले हैं करने ओलंपिक का आयोजन!
प्रजा संकल्प यात्रा

287वें दिन की पदयात्रा डायरी, खिलाड़ियों की नहीं करते मदद, मगर चले हैं करने ओलंपिक का आयोजन!

मुख्यमंत्री से मेरा एक सवाल...बीसी और एससी कार्पोरेशन द्वारा लाभान्वितों का चयन करना अधिकारियों का कर्तव्य है। मगर इस काम को जन्मभूमि कमिटियों को सौंपे जाने के पीछे क्या राज है? केवल राजनीतिक भेदभाव दर्शाने या रिश्वत से जेबे भरने के लिए ऐसा किया जा रहा है?

286वें दिन की पदयात्रा डायरी, तूफान के जख्म मिट रहे, मगर इनके धोखे अब भी दिल में दहल उठते हैं
प्रजा संकल्प यात्रा

286वें दिन की पदयात्रा डायरी, तूफान के जख्म मिट रहे, मगर इनके धोखे अब भी दिल में दहल उठते हैं

चार साल बीत गये। हुदहुद तूफान प्रभावितों को दिये गये आश्वासनों की अमलावरी नहीं किया जाना क्या यह सच नहीं है? किसान, मच्छुआरो, हथकरघा श्रमिकों, यादवों, ताड़ी तासकों और अन्य तूफान प्रभावितों के लिए घोषित मुआवजा का क्या हुआ? पक्कें मकान बनावकर दिये जाने के आश्वासनों का क्या हुआ?

284वें दिन की पदयात्रा डायरी, बेरोजगार भत्ता नाम मात्र का कार्यक्रम नहीं तो और क्या है?
प्रजा संकल्प यात्रा

284वें दिन की पदयात्रा डायरी, बेरोजगार भत्ता नाम मात्र का कार्यक्रम नहीं तो और क्या है?

प्रदेश में परिवारों की संख्या 1.70 करोड़ हैं। आपके द्वारा किये गये सर्वेक्षण में केवल 65 लाख बेरोजगार है। अनेक प्रतिबंधों के साथ युवानेस्तम योजना के लिए 12.22 लाख लोगों का चयन किया गया है। आपके प्रतिबंधों को पार करते हुए केवल 7.8 लाख लोग मात्र आवेदन कर सके। इसमें भी अनेक बहाने बताकर इसे घटाकर 2.15 लाख लोगों का चयन किया गया है।

283वें दिन की डायरी, पुरस्कार लेकर प्रचार करने में आगे रहते हैं चंद्रबाबू
प्रजा संकल्प यात्रा

283वें दिन की डायरी, पुरस्कार लेकर प्रचार करने में आगे रहते हैं चंद्रबाबू

आप सत्ता में आने से पहले तोटपल्ली परियोजना का काम 90 प्रतिशत पूरा नहीं हुआ था क्या यह सच नहीं है? बाकी बचा हुआ काम इन साढ़े चार सालों में भी नहीं करने के पीछे का क्या उद्देश्य है? इस परियोजना के तहत 1.35 लाख एकड़ भूमि को सिंचाई जल दिया जाना था। मगर 80 हजार एकड़ को सिंचाई जल नहीं दिया जा रहा है। क्या यह पाप आपका नहीं है?

279वें दिन की पदयात्रा डायरी,हजारों लोगों का जीना हराम कर दिया गया
प्रजा संकल्प यात्रा

279वें दिन की पदयात्रा डायरी,हजारों लोगों का जीना हराम कर दिया गया

आपके शासनकाल में उद्योगों को दिये जानी वाली छूट को बकाया में बदल दिया गया है। दिये जाने वाले प्रोत्साहन भी नहीं दे रहे हैं। बिजली के दामों का भार मात्र डाल दिया है। रायल्टी के दामों मे बेहिसाब बढ़ोत्तरी कर दी गई है। ऐसे हालत में कोई उद्योग कैसे अपना अस्तित्व बचा पाएगी? नये उद्योग कैसे आएंगे?

257वें दिन की पदयात्रा डायरी, लोगों का प्यार...शासक के दिल में होनी चाहिए
प्रजा संकल्प यात्रा

257वें दिन की पदयात्रा डायरी, लोगों का प्यार...शासक के दिल में होनी चाहिए

चुनाव के दौरान आपने ठेका कर्मियों को स्थायी करने का आश्वासन दिया गया था। साथ ही हर मकान में एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी देने का भी वादा किया था। मगर सत्ता में आते ही सभी सेवाओं को आउटसोर्सिंग को दे रहे हैं। एक व्यक्ति को भी सरकारी नौकरी नहीं दी है। मगर रिश्वत के लिए सरकारी सेवाओं को निजीकरण करते जा रहे है।

246वें दिन की डायरी, चंद्रबाबू के शासनकाल में क्या लोगों की समस्याओं को सुनने वाला कोई नहीं है?
प्रजा संकल्प यात्रा

246वें दिन की डायरी, चंद्रबाबू के शासनकाल में क्या लोगों की समस्याओं को सुनने वाला कोई नहीं है?

नेवेल बेस प्रभावित न्याय की गुहार लगा रहे है। आप इस विषय को केंद्र परिधि की है कहकर टालते जा रहे है। यह कहां का न्याय है? आपने बीजेपी के साथ चार साल तक संसार किया है। इन चार सालों में आपने केवल अपनी भलाई देख ली है। लोगों की समस्याओं के बारे में कभी किसी से बात की है? आपके इन चार साल के शासनकाल में राजधानी और अन्य कंपनियों के नाम पर गरीबों की भूमि को जबरन छीन लिया है। 

245वें दिन की पदयात्रा डायरी, चंद्रबाबू की धोखे को लोगों ने लिया है पहचान 
प्रजा संकल्प यात्रा

245वें दिन की पदयात्रा डायरी, चंद्रबाबू की धोखे को लोगों ने लिया है पहचान 

चंद्रबाबू नायुडू कह रहे है कि देश में कहीं पर नहीं किया गया, किसानों का कर्जा माफ किया गया है। साथ ही यह भी कह रहे है कि प्रदेश के सभी किसान खुश हैं। यदि यह बात सच है तो गांव-गांव के किसानों ने मुझसे कर्ज माफ की बात को झूठ क्यों कह रहे है? किसानों का कर्जा दिनोंदिन क्यों बढ़ते जा रहे हैं? बैंकों की नोटिस किसानों को क्यों मिल रहे हैं? 

240वें दिन की पदयात्रा डायरी, क्या चंद्रबाबू  के राज में बूढ़ों को भी राहत नहीं मिलेगी?
प्रजा संकल्प यात्रा

240वें दिन की पदयात्रा डायरी, क्या चंद्रबाबू के राज में बूढ़ों को भी राहत नहीं मिलेगी?

आपके चुनावी घोषणापत्र में मुख्य मुद्दे कहकर कुछ आश्वासनों को छापा गया है। इनमें एक आश्वासन यह भी है कि हर निर्वाचन क्षेत्र में एक वृद्धाश्रम स्थापित किया जाएगा। क्या इस आश्वासन के बारे में आपको याद है? सौ-हजार वृद्धाश्रमों की बात भगवान जाने। मगर कम से कम पूरे प्रदेश में एक वृद्धाश्रम को कहीं पर भी स्थापित किया है? क्या चंद्रबाबू नायुडू के राज में बूढ़ों को भी राहत नहीं मिलेगी?

227वें दिन की पदयात्रा डायरी, ‘नीरू-चेट्टु’ योजना के नाम पर जनधन की लूटखसोट
आंध्र-प्रदेश राजनीति

227वें दिन की पदयात्रा डायरी, ‘नीरू-चेट्टु’ योजना के नाम पर जनधन की लूटखसोट

कापु समुदाय के प्रमुख नेताओं ने मेरे प्रति विश्वास व्यक्त किया। उनके विश्वास के बलबूते पर मेरी पदयात्रा आरंभ हुई। बटाईदार किसानों की संख्या अधिक रहनेवाले किसानों की आपबीती फिर से सुनने को मिली। नुकरत्नम नामक महिला और उसके बेटे श्यामबाबू ने मुझसे मुलाकात की। मुझे देखते ही उनकी आंखों में आंसू आ गए। आर्थिक पिछड़े वर्ग के किसानों की यह आपबीती किसी के भी मन को झिंझोडकर रख देगी।

226वें दिन की पदयात्रा डायरी: 108 वाहनों की बदहाली, प्रबंधन में धांधलियों का बोलबाला
आंध्र-प्रदेश राजनीति

226वें दिन की पदयात्रा डायरी: 108 वाहनों की बदहाली, प्रबंधन में धांधलियों का बोलबाला

108 वाहन के कर्मचारियों के प्रतिनिधि ने YS जगन मोहन रेड्डी से मुलाकात की। प्रतिनिधि ने बताया कि उन्हें मज़बूरी में 5 अगस्त से हड़ताल करना पड़ेगा। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में 108 वाहनों की बदहाली और कर्मचारियों की स्थिति के बारे में जब उसने बताया तो मेरा मन उदास हुआ। पिताजी ने बड़ी ही उमंग से 108 वाहन व्यवस्था को अमल में लाया। इस व्यवस्था से प्रेरणा लेकर देश के अन्य 16 राज्यों में भी इस योजना को अमल में लाया जा रहा है। इसके अलावा अन्य देशों के लिए भी यह योजना एक आदर्श बनी है।

225वें दिन की पदयात्रा डायरी, आर्थिक पिछड़ों के प्रति चंद्रबाबू की बढ़ रही है बेदर्दी 
आंध्र-प्रदेश राजनीति

225वें दिन की पदयात्रा डायरी, आर्थिक पिछड़ों के प्रति चंद्रबाबू की बढ़ रही है बेदर्दी 

विरवाड़ा, एफकेपालेम, कुमारपुरम, पीठापुरम में संपन्न हुई पदयात्रा में आर्थिक पिछड़े वर्ग के लोगों से सुनी दास्तां ने मन को झिंझोड़कर रखा दिया। लोगों की मुसीबतों के बारे में सुनकर मन उदास हुआ।

224वें दिन की पदयात्रा डायरी, कार्पोरेट शिक्षा संस्थाओं को लाभ पहुंचाने का किया जा रहा है प्रयास
आंध्र-प्रदेश राजनीति

224वें दिन की पदयात्रा डायरी, कार्पोरेट शिक्षा संस्थाओं को लाभ पहुंचाने का किया जा रहा है प्रयास

प्रजा संकल्प यात्रा  तीन निर्वाचन क्षेत्रों में जारी रही। जग्गमपेट के विरवारम, राजापालेम, पेद्दापुरम के चंद्रमाम्पल्ली, दिवीली और पीठापुरम के विरवा ग्राम में संपन्न हुई। पीठापुरम का नाम लेते ही शिक्षण संस्थाओं को बढ़ावा देने वाले पीठापुरम के महाराजा याद आते हैं। ‘प्रजा युद्धम’ कविता लिखने वाले कवि अवंत्स सोमसुंदर का यही गांव है।

223वें दिन की पदयात्रा डायरी, चंद्रबाबू दिखा रहा है कपटी प्रेम
प्रजा संकल्प यात्रा

223वें दिन की पदयात्रा डायरी, चंद्रबाबू दिखा रहा है कपटी प्रेम

प्रदेश के फार्म आयल किसानों को तेलंगाना से भी एक हजार रुपये कम मिलने का राज क्या है? क्या किसानों की आय में बढ़ोत्तरी ऐसी ही होती है? कहा जा रहा है कि पूरे राज्य में किसानों के नुकसान के लिए आप और आपका शासन कारण है। क्या यह सच नहीं है?

222वें दिन की पदयात्रा डायरी, सौ निर्वाचन क्षेत्र के लोगों से मिलना एक अभूतपूर्व अनुभव रहा है
प्रजा संकल्प यात्रा

222वें दिन की पदयात्रा डायरी, सौ निर्वाचन क्षेत्र के लोगों से मिलना एक अभूतपूर्व अनुभव रहा है

चार साल तक बीजेपी के साथ संसार किया। विशेष दर्जा को दफना के लिए अनेक प्रयास किये गये। चुनाव को छह महीने बाकी है। अब आप विशेष दर्जा की बात कह रहे है। क्या लोग आपके इस बात पर विश्वास करेंगे? आपके किये हुए धोखे को माफ करेंगे?

198वें दिन की डायरी : न कर्ज मिला और न  पैसे वापस, इसीलिए गरीब ने बीवी को भेज दिया खाड़ी देश
प्रजा संकल्प यात्रा

198वें दिन की डायरी : न कर्ज मिला और न पैसे वापस, इसीलिए गरीब ने बीवी को भेज दिया खाड़ी देश

आपने चुनावी घोषणापत्र में एससी और एसटी सबप्लान कानून की अमलावरी करने और इसका उल्लंघन करने वाले के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है। एससी और एसटी सबप्लान का उल्लंघन, निधि जारी करने में पक्षपात, निधि का दुरुपयोग और निधि दूसरे काम में इस्तेमाल करने वालों को कौन सी सजा दी जाएं?

195वें दिवस की डायरी :  जनता को धोखा देने के समान है, आश्वासनों को पूरा नहीं करना
राजनीति

195वें दिवस की डायरी :  जनता को धोखा देने के समान है, आश्वासनों को पूरा नहीं करना

चुनावी घोषणापत्र में पेयजल की समस्या को दूर करने का आश्वासन दिया है। हर मकान को शुद्ध पेयजलापूर्ति का आश्वासन का क्या हुआ? दो रुपये में 20 लिटर मिनरल वॉटर योजना क्या हुआ? चुनाव के दौरान दिये गये आश्वासनों की अमलावरी को भूल जाना लोगों के साथ धोखा देना नहीं तो और क्या है?

194वें दिन की डायरी : आखिर क्यों भ्रष्टाचार व उपेक्षा की शिकार है 108 जैसी आपातकालीन सेवा
राजनीति

194वें दिन की डायरी : आखिर क्यों भ्रष्टाचार व उपेक्षा की शिकार है 108 जैसी आपातकालीन सेवा

पूरे प्रदेश में 108 सेवा वाहन अनेक कोने में फेंक दिये गये हैं। मगर आपके कोर डैश बोर्ड में सभी वाहन चल रहे हैं जैसा दिखाया जा रहा है। इसका राज क्या है? न चलने वाहनों के भी बिल बनवा लेना है क्या? गरीबों की प्राणों की रक्षा करने वाली 108 जैसी आपातकालीन सेवा को भी क्या भ्रष्टाचार और उपेक्षा से छुटकारा नहीं मिलेगा?

177वें दिन की डायरी-चंद्रबाबू का धोखेबाज चरित्र एक बार फिर उजागर हुआ
समाचार

177वें दिन की डायरी-चंद्रबाबू का धोखेबाज चरित्र एक बार फिर उजागर हुआ

चार दशकों से दलित और गरीब छात्रों को शिक्षा के लिए प्रेरित करने वाले छात्रावास आपके शासनकाल में आधे से ज्यादा बंद क्यों हो गये है? छात्रावास के स्थान पर रेसिडेंशियल स्कूल स्थापित किये जाने के आश्वासन का क्या हुआ है? क्या अबतक एक भी रेसिडेंशियल स्कूल को निर्मित किया है? जो छात्रावास है उसे बंद कर दिये गये।

171वें दिन की  डायरी, चंद्रबाबू जी क्या मुस्लिम समाज आपसे कल्याण की अपेक्षा कर सकता है?
समाचार

171वें दिन की डायरी, चंद्रबाबू जी क्या मुस्लिम समाज आपसे कल्याण की अपेक्षा कर सकता है?

आपने चुनावी घोषणापत्र में मुस्लिम के बच्चों को केजी से पीजी तक निशुल्क शिक्षा का आश्वासन दिया है। साथ ही फीस पुनर्भुतान, मदर्सों में पढ़ रहे बच्चों को फ्री बस पास, छात्रवृत्ति, गणवेश, उर्दु शिक्षकों की भर्ती, हर साल डीएससी की बात का उल्लेख है। क्या आपने इनमें किसी एक भी अमलावरी की है? क्या यह धोखा नहीं है?

170वें दिन की पदयात्रा डायरी, विफल मुख्यमंत्री चंद्रबाबू का क्या नाम रखा जाएं?
समाचार

170वें दिन की पदयात्रा डायरी, विफल मुख्यमंत्री चंद्रबाबू का क्या नाम रखा जाएं?

गहरे नींद में सोये हुए व्यक्ति को स्पर्श करके उठाया जा सकता है। मगर गहरे नींद में सोये जैसा एक्टिंग करने वाले व्यक्ति के साथ हम क्या कर सकते है? चंद्रबाबू नायुडू जी, आपकी जन्मभूमि कमेटियां, आपके नेता लोगों के साथ अन्याय करते जा रहे हैं। लोगों के लूट रहे हैं। मगर आप मुंह तक नहीं खोल रहे हैं। ऐसे विफल मुख्यमंत्री का क्या नाम रखा जाएं। असमर्थ? गैरजिम्मेदारी?

169वें दिन की पदयात्रा डायरी, चंद्रबाबू के शासनकाल में धोखे के शिकार बने किसान
समाचार

169वें दिन की पदयात्रा डायरी, चंद्रबाबू के शासनकाल में धोखे के शिकार बने किसान

वाईएस राजशेखर रेड्डी के शासनकाल में कृषि लाभदायक रही है। क्या यह सच नहीं है कि आक्वा क्षेत्र अब आपके शासनकाल में नुकसान उठा रही है? आपके उदासीन रवैये को देखकर लगता है कि आक्वा क्षेत्र के लिए कुछ कर दिखाने में आपकी दिलचस्पी नहीं है। आपकी नीति के कारण ही दलालों और बड़े उद्योगपतियों की लूट को बढ़ावा मिला है। क्या इसके लिए आप जिम्मेदार नहीं है?

168वें दिन की पदयात्रा डायरी, ठेका किसानों को नहीं मिल रहा है उनके फसल का पैसा
समाचार

168वें दिन की पदयात्रा डायरी, ठेका किसानों को नहीं मिल रहा है उनके फसल का पैसा

चुनावी घोषणापत्र में ठेका किसानों को पहचान पत्र देकर कर्ज हासिल करने की सुविधा उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया था। अब उस आश्वासन की अमलावरी नहीं करना क्या अन्याय नहीं है? आपके शासनकाल में ठेका किसानों की कमी हुई है क्या यह सच नहीं है? कठोर नियम के चलते ठेका किसान खेती करने आगे नहीं आ रहा है क्या यह सच नहीं है।

167वें दिन की पदयात्रा डायरी, चंद्रबाबू आपने मजदूरों के साथ धोखा और पाप किया है
समाचार

167वें दिन की पदयात्रा डायरी, चंद्रबाबू आपने मजदूरों के साथ धोखा और पाप किया है

असंगठित श्रमिकों के कल्याण के लिए स्वास्थ्य बीमा, सोशल सेक्यूरिटी, बिना ब्याज का कर्ज ऐसे 15 आश्वासन आपके चुनावी घोषणापत्र के 15वें पेज पर हैं। उन आश्वासनों की अमलावरी नहीं करना इन मजदूरों के साथ धोखा करना नहीं तो और क्या है? ऐसा करके आपको पाप करे जैसा नहीं लग रहा है?