Wed Jun 19, 2019 Telugu English E-Paper Education
ब्रेकिंग न्यूज़
लोकसभा अध्यक्ष चुने गए ओम बिरला, निर्विरोध हुआ निर्वाचन
मुजफ्फरपुर में मौतों को लेकर सादगी से जन्म दिन मनाएंगे राहुल गांधी
संभल में सड़क हादसे में 10 की मौत, 12 बुरी तरह घायल
हैदराबाद: जांच के दौरान कम उम्र के 2,220 वाहन चालक पकड़े गए
गुजरात में राज्यसभा की दो सीटों के चुनाव पर सुप्रीम कोर्ट में आज होगी सुनवाई

`World Book Day 2019` से सम्बंधित परिणाम

विश्व पुस्तक दिवस विशेष : नामुमकिन है किताबों का अस्थित्व मिटना, ये है वजह
संपादक की पसंद

विश्व पुस्तक दिवस विशेष : नामुमकिन है किताबों का अस्थित्व मिटना, ये है वजह

आज 23 अप्रैल विश्व पुस्तक दिवस है और इसी दिन (23 अप्रैल 1954) विश्व के सुप्रसिद्ध लेखक शेक्सपीयर ने इस दुनिया को अलविदा कहा था। शेक्सपीयर ने 30 से अधिक नाटक और 200 से अधिक कविताएं लिखी हैं। शेक्सपीयर की कृतियां विश्वभर की समस्त भाषाओं में उपलब्द है। साहित्य जगत में महान लेखक शेक्सपीयर के योगदान को देखते हुए 23 अप्रैल 1995 से यूनिस्को और 23 अप्रैल 2001 से भारत सरकार विश्व पुस्तक दिवास के रूप में मना रही है।