Sat Oct 19, 2019 Telugu English E-Paper Education
ब्रेकिंग न्यूज़
TSRTC Strike : कर्मचारी संगठनों का तेलंगाना बंद आज
साल 2022 में इंटरपोल की 91वीं आमसभा की मेजबानी करेगा भारत
अयोध्या विवाद में विश्व हिंदू परिषद ने सुलह समझौते से साफ किया इनकार
सलमान खान का बॉडीगार्ड शेरा आदित्य ठाकरे की मौजदूगी में शिवसेना में शामिल
हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए आज थम जाएगा चुनाव प्रचार

`World Book Day 2019` से सम्बंधित परिणाम

विश्व पुस्तक दिवस विशेष : नामुमकिन है किताबों का अस्थित्व मिटना, ये है वजह
संपादक की पसंद

विश्व पुस्तक दिवस विशेष : नामुमकिन है किताबों का अस्थित्व मिटना, ये है वजह

आज 23 अप्रैल विश्व पुस्तक दिवस है और इसी दिन (23 अप्रैल 1954) विश्व के सुप्रसिद्ध लेखक शेक्सपीयर ने इस दुनिया को अलविदा कहा था। शेक्सपीयर ने 30 से अधिक नाटक और 200 से अधिक कविताएं लिखी हैं। शेक्सपीयर की कृतियां विश्वभर की समस्त भाषाओं में उपलब्द है। साहित्य जगत में महान लेखक शेक्सपीयर के योगदान को देखते हुए 23 अप्रैल 1995 से यूनिस्को और 23 अप्रैल 2001 से भारत सरकार विश्व पुस्तक दिवास के रूप में मना रही है।