Sat Jan 25, 2020 Telugu English E-Paper Education
ब्रेकिंग न्यूज़
फिल्म अभिनेत्री कंगना रानौत को पद्म श्री पुरस्कार से किया जाएगा सम्मानित  
नई दिल्ली: 26 जनवरी के मौके पर शाम 6 बजे होगा मन की बात का प्रसारण
जीवीएल नरसिम्हा का उद्धव पर हमला, बोले- वैचारिक परिवर्तन के बाद अयोध्या नहीं हज जाएं
गणतंत्र दिवस के मौके पर 16 हस्तियों को पद्म भूषण पुरस्कार से किया जाएगा सम्मानित
निर्भया केसः दया याचिका खारिज करने के राष्ट्रपति के फैसले को SC में चुनौती देगा मुकेश

`Margashirsha Maas` से सम्बंधित परिणाम

मार्गशीर्ष मास के गुरुवार को विशेष रूप से पूजी जाती है मां लक्ष्मी, जानें पूजा विधि व महत्व 
संपादक की पसंद

मार्गशीर्ष मास के गुरुवार को विशेष रूप से पूजी जाती है मां लक्ष्मी, जानें पूजा विधि व महत्व 

जैसे सावन का महीना भोलेनाथ को समर्पित है ठीक उसी तरह मार्गशीर्ष जिसे अगहन भी कहते हैं, इस महीने में मां लक्ष्मी के पूजन का विशेष विधान है। मां लक्ष्मी के लिए इस महीने के हर गुरुवार को व्रत रखा जाता है, विशेष पूजा भी की जाती है।मार्गशीर्ष मास शुरू हो चुका है और यह इस मास का दूसरा गुरुवार है। आमतौर पर गुरुवार के दिन भगवान विष्णु की पूजा होती है, पर मार्गशीर्ष के महीने में गुरुवार को मां लक्ष्मी की धूमधाम से पूजा होती है।कहते हैं कि जो भी इस महीने में व्रत रखकर मां लक्ष्मी की पूजा करता है उस पर मां लक्ष्मी की कृपा बरसती है और उसके भंडार धन-धान्य से भर जाते हैं।

चमकाना है भाग्य तो मार्गशीर्ष मास में करें ये काम, भूलकर भी न करें ये गलतियां  
संपादक की पसंद

चमकाना है भाग्य तो मार्गशीर्ष मास में करें ये काम, भूलकर भी न करें ये गलतियां  

कार्तिक के समाप्त होते ही मार्गशीर्ष मास जिसे अगहन भी कहा जाता है शुरू हो चुका है। मार्गशीर्ष मास को भगवान श्री कृष्ण का प्रिय मास भी कहा जाता है इसीलिए इसका बड़ा महत्व है। इतना ही नहीं मार्गशीर्ष को भगवान श्रीकृष्ण का स्वरूप भी कहा गया है।इस मास में तीर्थ स्थान या फिर किसी नदी, कुंड या तालाब में स्नान करने का विशेष महत्व है और माना जाता है कि इससे पुण्य की प्राप्ति होती है। साथ ही यह भी माना जाता है कि अगर मार्गशीर्ष मास में कुछ बातों का ध्यान रखा जाए और कुछ खास नियम अपनाकर उपाय किये जाए तो भाग्य चमक सकता है।

आज से शुरू हो रहा है श्री कृष्ण का प्रिय माह मार्गशीर्ष, जानें इसे अगहन क्यों कहा जाता है 
संपादक की पसंद

आज से शुरू हो रहा है श्री कृष्ण का प्रिय माह मार्गशीर्ष, जानें इसे अगहन क्यों कहा जाता है 

कार्तिक पूर्णिमा के साथ ही 12 नवंबर को कार्तिक माह खत्म हो गया और 13 नवंबर से शुरू हो रहा है भगवान श्री कृष्ण का प्रिय महीना मार्गशीर्ष जिसे अगहन भी कहा जाता है।मार्गशीर्ष का महीना हिंदू धार्मिक पंचांग का नौवां महीना है। धर्म शास्त्रों के मुताबिक मार्गशीर्ष का महीना अत्यंत पवित्र होता है। इस महीने से ही सतयुग का आरंभ भी माना जाता है।श्रीमद्भगवत गीता में भगवान श्री कृष्ण ने कहा है कि -सभी बारह महीनों में मार्गशीर्ष मैं स्वयं हूं। इससे साफ पता चलता है कि यह कृष्ण का प्रिय महीना है।