Sat Jan 25, 2020 Telugu English E-Paper Education
ब्रेकिंग न्यूज़
हैदराबाद में चारमीनार पर आज तिरंगा फहराएंगे असदुद्दीन ओवैसी
भुवनेश्वर एयरपोर्ट के पास निर्माणाधीन छत गिरने से एक की मौत, 1 घायल
राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर चुनाव आयोग का कार्यक्रम आज, शामिल होंगे राष्ट्रपति कोविंद
जालंधर में नागिरकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ लेखकों का विरोध प्रदर्शन आज
तेलंगाना में हाल ही संपन्न मुंसिपल चुनाव के परिणाम आज

`Kartik Purnima 2019` से सम्बंधित परिणाम

Kartik Purnima 2019: आज पूरे विधि-विधान से करेंगे तुलसी पूजा तो मां लक्ष्मी भर देंगी आपके भंडार  
संपादक की पसंद

Kartik Purnima 2019: आज पूरे विधि-विधान से करेंगे तुलसी पूजा तो मां लक्ष्मी भर देंगी आपके भंडार  

आज कार्तिक पूर्णिमा का पावन दिन है औ हिंदू धर्म में इसका बड़ा महत्व है। इस दिन स्नान-दान करने से पुण्य फल की प्राप्ति मिलती है। वहीं कार्तिक पूर्णिमा पर तुलसी पूजन का भी विधान है।माना जाता है कि कार्तिक पूर्णिमा पर तुलसी पूजन करने से मनोवांछित फल मिलता है और सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, कार्तिक पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु को तुलसी पत्र अर्पित करना चाहिए।साथ ही कार्तिक मास में प्रत्येक दिन तुलसी के पास घी का दीपक चलाना चाहिए और उनकी पूजा करनी चाहिए, इससे सौभाग्य में वृद्धि होती है।

550 वां प्रकाश पर्व: जानें स्वर्ण मंदिर यानी हरमिंदर साहिब का महत्व, दर्शन कर कृतार्थ होते हैं श्रद्धालु 
संपादक की पसंद

550 वां प्रकाश पर्व: जानें स्वर्ण मंदिर यानी हरमिंदर साहिब का महत्व, दर्शन कर कृतार्थ होते हैं श्रद्धालु 

कार्तिक पूर्णिमा मंगलवार, 12 नवंबर को है और इसी दिन सिख धर्म के संस्थापक गुरुनानक देव की जयंती भी है। ये दिन सिख और हिन्दू धर्म के लिए बहुत खास है। इस साल गुरुनानक की 550वीं जयंती है।सिख श्रद्धालु इस दिन सभी गुरुद्वारों में बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं। पंजाब के अमृतसर में स्थित स्वर्ण मंदिर दुनियाभर के प्रमुख गुरुद्वारों में से एक है। यहां देश-विदेश से हर धर्म के लोग पहुंचते हैं और पूरी आस्था के साथ सिर झुकाते हैं। इसे हरमंदिर साहिब भी कहा जाता है।अमृतसर का स्वर्ण मंदिर भारत के सबसे प्रसिद्द तीर्थस्थलों में से एक है जहाँ रोज़ भक्तों का लाखों की संख्या में हुजूम उमड़ता है। दुनिया के कोने-कोने से भक्त और पर्यटक इस महा निर्माण के दर्शन कर तृप्त होने आते हैं।

Kartik Purnima 2019: भरणी नक्षत्र में घाटों पर श्रद्धालुओं का हुजूम 
समाचार

Kartik Purnima 2019: भरणी नक्षत्र में घाटों पर श्रद्धालुओं का हुजूम 

देशभर में आज कार्तिक पूर्णिमा का त्योहार मनाया जा रहा है। आज भरणी नक्षत्र में स्नान का बड़ा महत्व है। देखिए विभिन्न घाटों पर श्रद्धालुओं का हुजूम। 

Kartik Purnima 2019: आज पूजा के बाद करेंगे ये खास उपाय तो मिलेगा सुख-समृद्धि का वरदान  
संपादक की पसंद

Kartik Purnima 2019: आज पूजा के बाद करेंगे ये खास उपाय तो मिलेगा सुख-समृद्धि का वरदान  

कार्तिक पूर्णिमा को त्रिपुरारी पूर्णिमा के नाम से भी जानते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इस दिन भगवान शिव ने असुर त्रिपुरासुर का वध किया था। वहीं कार्तिक पूर्णिमा की शाम भगवान विष्णु का मत्स्य अवतार लिया था। इस कारण कार्तिक पूर्णिमा का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण बन जाता है।मान्यता है कि कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान करना बेहद पुण्य का काम होता है। मान्यता है कि इस दिन गंगा स्नान के बाद दीपदान करने से दस यज्ञों के बराबर पुण्य मिलता है।इस बार कार्तिक पूर्णिमा 12 नवंबर के दिन है। वहीं ऐसी मान्यता भी है कि यदि कोई गंगा स्नान करता है तो उसे विशेष फलों की प्राप्ति होती है और शास्त्रों में पूर्णिमा पर माता लक्ष्मी जी की पूजा का भी विधान माना जाता है।

कार्तिक पूर्णिमा 2019: करेंगे ये उपाय तो हो जाएंगे मालामाल
समाचार

कार्तिक पूर्णिमा 2019: करेंगे ये उपाय तो हो जाएंगे मालामाल

कार्तिक पूर्णिमा पर हम आपको कुछ ऐसे उपाय बता रहे हैं, जिसे आपने किया तो माता लक्ष्मी की कृपा आप पर जरूर बरसेगी। देखें Video  

देव दीपावली 2019: जानें आखिर कार्तिक पूर्णिमा को क्यों मनाई जाती है देव दीपावली, ये है इससे जुड़ी कथा 
संपादक की पसंद

देव दीपावली 2019: जानें आखिर कार्तिक पूर्णिमा को क्यों मनाई जाती है देव दीपावली, ये है इससे जुड़ी कथा 

कार्तिक पूर्णिमा को स्नान-दान का महत्व है और भक्तजन गंगा स्नान के लिए काशी पहुंचते हैं वहीं दूसरी ओर काशी में इस दिन धूमधाम से देव दीपावली मनाई जाती है। इस बार 12 नवंबर मंगलवार को कार्तिक पूर्णिमा मनाई जाएगी और इसी दिन देव दीपावली भी मनेगी। इस तरह देखा जाए तो कार्तिक पूर्णिमा का महत्व और बढ़ जाता है।देव दीपावली के दिन गंगा पूजा के साथ भगवान शिव की आराधना करने का विधान है जिससे लोगों की मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। देव दीपावली के दिन काशी में गंगा के सभी घाटों पर दीपक जलाए जाते हैं। पूरी काशी दीयों की रोशनी से इस दिन जगमगा जाती है।

Kartik Purnima 2019: इस दिन गंगा स्नान व दीप दान का है महत्व, जानें क्या करें और क्या न करें  
संपादक की पसंद

Kartik Purnima 2019: इस दिन गंगा स्नान व दीप दान का है महत्व, जानें क्या करें और क्या न करें  

कार्तिक मास की पूर्णिमा यानी कार्तिक पूनम के दिन गंगा स्नान करने से साल भर किए गए सभी बुरे कर्मों से मुक्ति मिलती है। मन से बुरी भावनाओं का विनाश होता है और अच्छे विचारों का वास होता है।माना जाता है कि कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान करने से सालभर के गंगा स्नान का फल मिलता है। इस दिन सिर्फ गंगा ही नहीं बल्कि अलग-अलग क्षेत्रों में पवित्र मानी जाने वाली और पूजी जाने वाली नदियों और सरोवरों में भी श्रद्धालु स्नान कर पुण्य अर्जित करते हैं।

550 वां प्रकाश पर्व: आखिर क्यों सिखों के लिए महत्वपूर्ण है करतारपुर गुरुद्वारा साहिब, जानें इसकी धार्मिक अहमियत  
संपादक की पसंद

550 वां प्रकाश पर्व: आखिर क्यों सिखों के लिए महत्वपूर्ण है करतारपुर गुरुद्वारा साहिब, जानें इसकी धार्मिक अहमियत  

गुरू नानकदेव की 550वीं जयंती पर करतारपुर कॉरिडोर खोले जाने से सिख श्रद्धालु काफी खुश हैं। इस कॉरिडोर के खोले जाने से सिख समुदाय के लोग बिना किसी रुकावट और बिना वीजा के पाकिस्तान स्थित इस गुरूद्वारे में जा सकेंगे।पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा श्री करतापुर साहिब भारतीय सीमा से महज 4 किलोमीटर की दूरी पर है। इस गुरुद्वारे और नगर का काफी महत्व है। सिखों के गुरु नानक जी ने करतारपुर को बसाया था और यहीं इनका परलोकवास भी हुआ।

550 वां प्रकाश पर्व: गुरु नानकदेव ने मक्का-मदीना में किया था ये चमत्कार, यूं दिया एकता का संदेश 
संपादक की पसंद

550 वां प्रकाश पर्व: गुरु नानकदेव ने मक्का-मदीना में किया था ये चमत्कार, यूं दिया एकता का संदेश 

कार्तिक पूर्णिमा को गुरु नानक जयंती जिसे गुरु पर्व या प्रकाश पर्व भी कहा जाता है धूमधाम से मनाई जाएगी। इस बार गुरु नानक देव की 550 जयंती है जिसे 550 वां प्रकाश पर्व के तौर मनाई जाएगी।आइये गुरु नानक जयंती के अवसर पर गुरु नानक देव जी की कुछ खास कहानियों व चमत्कारों के बारे में जानते हैं जिनसे उन्होंने समाज से कुरीतियों को दूर करने की कोशिश के साथ ही एकता का संदेश दिया।

Kartik Purnima 2019: मनोवांछित फल पाने के लिए इस दिन करें इन चीजों का दान, ऐसे करें पूजा  
संपादक की पसंद

Kartik Purnima 2019: मनोवांछित फल पाने के लिए इस दिन करें इन चीजों का दान, ऐसे करें पूजा  

हिंदू धर्म में कार्तिक पूर्णिमा का विशेष महत्व है। इस दिन विशेष रूप से भगवान शिव शंकर की पूजा की जाती है और माना जाता है कि इस दिन भोलेनाथ को प्रसन्न करने से व्यक्ति सात जन्म तक ज्ञानी और धनवान होता है।कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान-दान का भी विशेष महत्व है। कहते हैं कि इस दिन दान करने से उसका दुगुना फल मिलता है। इस साल कार्तिक पूर्णिमा 12 नवंबर मंगलवार को मनाई जाएगी।

Kartik Purnima 2019: भगवान विष्णु ने इसी दिन लिया था मत्स्य अवतार, ये है इससे जुड़ी कथा   
संपादक की पसंद

Kartik Purnima 2019: भगवान विष्णु ने इसी दिन लिया था मत्स्य अवतार, ये है इससे जुड़ी कथा   

इस बार कार्तिक पूर्णिमा 12 नवंबर मंगलवार को है।पौराणिक मान्यता है कि इस दिन भगवान शिव ने त्रिपुरासुर का अंत किया था और इसी खुशी में देवताओं ने दीप जलाए व दीप दान किया जिसकी वजह से इसे देव दीपावली कहते हैं और उत्तर भारत जैसे कि काशी में इसे धूमधाम से मनाया भी जाता है।दूसरी ओर कार्तिक पूर्णिमा को ही गुरु नानक जयंती यानी गुरु पर्व भी मनाया जाता है वहीं इस दिन भगवान विष्णु ने पहला अवतार, मत्स्य अवतार भी लिया था जिससे इस दिन का महत्व बढ़ जाता है।

Kartik Purnima 2019: इस बार सर्वार्थ सिद्धि योग में मनेगी कार्तिक पूर्णिमा, जानें महत्व व मुहूर्त 
संपादक की पसंद

Kartik Purnima 2019: इस बार सर्वार्थ सिद्धि योग में मनेगी कार्तिक पूर्णिमा, जानें महत्व व मुहूर्त 

कार्तिक मास की पूर्णिमा का दिन बेहद खास होता है। इस दिन स्नान-दान का विशेष महत्व होता है। इस बार कार्तिक पूर्णिमा 12 मंगलवार को है।इस बार कार्तिक पूर्णिमा पर सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है जिसमें स्नान-दान का महत्व बढ़ जाएगा। वैसे भी कार्तिक मास की पूर्णिमा का खास महत्व होता है और इस बार तो इसका महत्व ग्रह और नक्षत्र से बढ़ गया है।कार्तिक पूर्णिमा इस बार 12 नवंबर को मंगलवार के दिन भरणी नक्षत्र और सर्वार्थ सिद्धि योग के साथ ग्रह-गोचरों के शुभ संयोग में मनाई जाएगी।

550 वां प्रकाश पर्व: बड़ी महिमा है नानकमत्ता साहिब गुरुद्वारे की, गुरु नानकदेवजी ने यहां किये थे कई चमत्कार    
संपादक की पसंद

550 वां प्रकाश पर्व: बड़ी महिमा है नानकमत्ता साहिब गुरुद्वारे की, गुरु नानकदेवजी ने यहां किये थे कई चमत्कार   

नानकमत्ता गुरुद्वारा उत्तराखंड के उधम सिंह नगर जिले में है जो कि सिखों का पवित्र व ऐतिहासिक गुरुद्वारा है। यहाँ हर साल हजारों की संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं।यह गुरुद्वारा उत्तराखण्ड में स्थित सिखों के तीन प्रमुख तीर्थ स्थानों में से एक है। इस गुरुद्वारे के अलावा हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा और श्री रीठा साहिब गुरुद्वारा भी सिखों के पवित्र तीर्थ स्थानों में हैं।नानकसागर बाँध गुरुद्वारा श्री नानकमत्ता साहिब के पास ही है इसलिये इसे नानक सागर के नाम से भी जाना जाता है। गुरुद्वारा नानकमत्ता साहिब के नाम से ही इस जगह का नाम नानकमत्ता पड़ा।

Kartik Purnima 2019: इस दिन भोलेनाथ की पूजा का है विशेष महत्व, भूलकर भी न करें ये गलतियां 
संपादक की पसंद

Kartik Purnima 2019: इस दिन भोलेनाथ की पूजा का है विशेष महत्व, भूलकर भी न करें ये गलतियां 

कार्तिक मास का हिंदू धर्म में खासा महत्व है। वहीं कार्तिक पूर्णिमा को तो विशेष रूप से स्नान-दान किया जाता है, साथ ही कार्तिक पूर्णिमा पर कई नियमों का पालन भी किया जाता है। कार्तिक पूर्णिमा को डुबकी पूनम भी कहते हैं क्योंकि इस दिन तीर्थ स्थान पर पवित्र नदियों में डुबकी लगाने का भी महत्व है।माना जाता है कि इस दिन अगर सभी नियमों का पालन किया जाए तो ईश्वर की कृपा प्राप्त होती है। कार्तिक पूर्णिमा को त्रिपुरी पूर्णिमा और गंगा स्नान के नाम से भी जाना जाता है। इस पूर्णिमा को त्रिपुरी पूर्णिमा इसलिए कहा जाता है कि इस दिन ही भगवान शिव ने त्रिपासुर नामक राक्षस का अंत किया था।