Sun Dec 08, 2019 Telugu English E-Paper Education
ब्रेकिंग न्यूज़
दिल्ली के अनाज मंडी में आग लगने से 43 लोगों की मौत, आग पर पाया गया काबू
दूसरे दिन भी एनएचआरसी की जांच पड़ताल, पीड़ित परिजनों से भी मिलेगा दल
तिरुवनंतपुरम में भारत-वेस्टइंडीज के बीच दूसरी टी20 मैच आज, टीम इंडिया की सीरीज पर नजर
नई दिल्ली : सोनिया गांधी के आवास पर आज कांग्रेस संसदीय स्ट्रैटजी ग्रुप की बैठक
भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने थाने के बाहर दिया धरना, कहा- महिलाओं के लिए लड़ाई रहेगी जारी

`Fani` से सम्बंधित परिणाम

फनी का एपी के तटीय क्षेत्र में प्रभाव, तेज हवा के साथ हुई भारी वर्षा  से कई जानवर मरे
राष्ट्रीय

फनी का एपी के तटीय क्षेत्र में प्रभाव, तेज हवा के साथ हुई भारी वर्षा से कई जानवर मरे

फनी तूफान के प्रभाव आंध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्र पर हुआ है। आंध्र प्रदेश के तटीय जिला श्रीकाकुलम के कई हिस्सों में बारिश हुई। इस तूफान से किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। अधिकारियों ने बताया कि कई हिस्सों में बारिश के कारण 9 मवेशियों और 12 भेडों की मौत हो गई। तूफान के चलते बिजली के 2000 से भी अधिक खंभे उखड़ गये। मोबाइल फोन के 218 टावर क्षतिग्रस्त हुये।

 AP के उत्तर तटीय क्षेत्र पहुंचा फनी तूफान, लोगों को सतर्क रहने की चेतावनी
आंध्र-प्रदेश

AP के उत्तर तटीय क्षेत्र पहुंचा फनी तूफान, लोगों को सतर्क रहने की चेतावनी

फानी तूफान शुक्रवार की सुबह उत्तरांध्रा तट पर पहुंच गया है। ओडिशा में पहुंच चुका फानी तूफान में प्रति घंटा 11 किलोमीटर की रफ्तार से हवाएं बह रही है। गुरूवार की रात को ही इसे सुपर साइक्लान घोषित कर दिया गया है। इस तूफान की रफ्तार प्रति घंटा 15 किलोमीटर होगी।

फनी तूफान, विशाखापटनम की ओर आने-जाने वाली 81 रेलगाडियां स्थगित 
आंध्र-प्रदेश

फनी तूफान, विशाखापटनम की ओर आने-जाने वाली 81 रेलगाडियां स्थगित 

फानी तूफान के प्रभाव को भांपते हुए मौसम विभाग ने लोगों को सतर्क रहने की चेतावनी जारी की। इस क्रम में रेल विभाग ने 81 रेलगाडियां परावर्तित कर दी हैं। दोनों ओर से रेलमार्ग में बदलाव किया गया।

 ‘फनी’ को लेकर कैबिनेट सचिव ने की स्थिति की समीक्षा, आंध्र के इन जिलों पर रहेगा असर 
आंध्र-प्रदेश

‘फनी’ को लेकर कैबिनेट सचिव ने की स्थिति की समीक्षा, आंध्र के इन जिलों पर रहेगा असर 

फनी तूफान विकराल रूप लेकर तेजी के साथ तट की तरफ बढ़ रहा है। ओडिशा के पूरी के उत्तर-पूर्वी दिशा में 830 किलो मीटर और विशाखापटनम से दक्षिणपूर्व में 670 किलो मीटर की दूरी पर केंद्रित है।