मेलबर्नः वर्ल्ड नंबर-1 पुरुष टेनिस खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविक ने अपने विजय क्रम को जारी रखते हुए शुक्रवार को आस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में प्रवेश कर लिया।

जोकोविक ने पुरुष एकल वर्ग के सेमीफाइनल में वर्ल्ड नंबर-30 फ्रांस के लुकास पाउइले को बेहद आसान मुकाबले में 6-0, 6-2, 6-2 से मात देते हुए फाइनल में जगह बनाई।

जोकोविक सातवीं बार ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में

जोकोविक अपने सातवें ऑस्ट्रेलियन ओपन खिताब के लिए 17 बार के ग्रैंड स्लैम विजेता वर्ल्ड नंबर-2 स्पेन के राफेल नडाल से जद्दोजहद करेंगे। नडाल की कोशिश भी दूसरी बार आस्ट्रेलियन ओपन का खिताब जीतकर इतिहास रचने की होगी।

अगर नडाल फाइनल में जोकोविक को मात दे देते हैं तो वह ओपन इरा में हर ग्रैंड स्लैम को दो या दो से ज्यादा बार जीतने वाले पहले खिलाड़ी बन जाएंगे।

नडाल और जोकोविक की भिड़ंत रविवार को होगी। दोनों खिलाड़ी 2012 में भी इसी टूर्नामेंट के फाइनल में भिड़े थे जहां जोकोविक ने बाजी मारी थी। यह मैच पांच घंटे 53 मिनट तक चला था।

इस मुकाबले पर जोकोविक ने कहा, "मैं निश्चित ही इस मैच के टिकट खरीदना चाहूंगा। इस साल नियम थोड़े बदले हैं क्योंकि सुपर टाई ब्रेक आ गया है, इसलिए मुझे नहीं लगता कि मैच छह घंटे तक जाएगा। यह जीवन में एक बार मिलने वाला अनुभव है। उम्मीद है कि परिणाम वैसा ही हो जैसा पहले रहा था।"

इसे भी पढ़ेंः

इंडोनेशिया मास्टर्स के सेमीफाइनल में पहुंच गई सायना

अपने प्रदर्शन पर दिग्गज ने कहा, "मुझे लगता है कि आत्मविश्वास हमेशा बचाता है। मुझे हमेशा विश्वास था कि मैं इस तरह से खेल सकता हूं। यही राज है, हमेशा अपनी क्षमताओं पर विश्वास करो।"

सेमीफाइनल मैच पर जोकोविक ने कहा, "यह इस कोर्ट पर खेले गए मेरे सर्वश्रेष्ठ मैचों में से एक है। निश्चित तौर पर सब कुछ वैसा ही रहा जैसा मैंने सोचा था। उनमें (पाउइले में) क्षमता है कि वह विश्व के शीर्ष-10 खिलाड़ियों में शामिल हो सकें।"

जोकोविक ने 2016, 2015, 2013, 2012, 2011 और 2008 में ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब जीता था। वह इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंच कर कभी हारे नहीं हैं।