रिश्वत लेते रंगेहाथ पकड़ी गई डिप्टी तहसीलदार, मांगे थे इतने लाख

रिश्वत की रकम के साथ डिप्टी तहसीलदार जयलक्ष्मी - Sakshi Samachar

नागरकर्नूल : ACB अधिकारियों ने डिप्टी तहसीलदार को एक किसान से एक लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगाहाथ पकड़ लिया। यह मामला नागरकर्नूल जिले के तिम्माजीपेट मंडल के मारेपल्ली की है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक मारेपल्ली निवासी वेंकटय्या ने 2016 में उसी गांव में तीन एकड़ 15 गुंटा जमीन खरीदी। उसने उक्त जमीन अपने नाम पर कराने के लिए तहसीलदार कार्यालय में आवेदन किया। इस बीच, रंगारेड्डी जिले के कोत्तूर मंडल के पेंजर्ला गांव निवासी मल्लेश ने तहसीलदार कार्यालय में यह कहते हुए जमीन वेंकटय्या के नाम नहीं करने की अपील की कि वह यह जमीन 2006 में ही खरीद चुका है। इसी बात को लेकर नागरकर्नूल आरडीओ कार्यालय में विवाद चल रहा है। इसी के तहत वेंकटय्या संयुक्त जिलाधीश से शिकायत करने के लिए कलेक्टरेट पहुंचा।

इसी क्रम में पिछले दिनों वेंकटय्या की मुलाकात कलेक्टरेट के सी-सेक्शन में प्रभारी सुपरिंटेंडेंट के रूप में कार्यरत डिप्टी तहसीलदार जयलक्ष्मी से हुई। जयलक्ष्मी ने जमीन के पट्टे वेंकटय्या के अनुकूल दिलवाने का वादा करते हुए उससे 13 लाख रुपए की रिश्वत मांगी। वेंकटय्या के उतनी बड़ी रकम देना मुश्किल बताने पर डिप्टी तहसीलदार ने उससे 10 लाख रुपए चरणबद्ध तरीके से देने को कहा।

इसे भी पढ़ें :

CM जगन के आदेश पर ACB की छापेमारी, तहसील कार्यालयों में छानबीन

वेंटीलेटर के रास्ते Girls Hostel में घुसा युवक, वार्डेन पर उठे सवाल

इस बात से हताश वेंकटय्या ने एसीबी अधिकारियों से डिप्टी तहसीलदार के खिलाफ शिकायत की। एसीबी अधिकारियों के कहने पर पीड़ित सोमवार को डिप्टी तहसीलदार को रिश्वत की रकम सौंप रहा था कि वहां पहले से घात लगाकर बैठे एसीबी अधिकारियों ने उन्हें रंगेहाथ पकड़ लिया। डिप्टी तहसीलदार को गिरफ्तार कर चुके एसीबी अधिकारी मंगलवार को उसे अदालत में पेश करने वाले हैं।

Advertisement
Back to Top