दिव्या हत्या मामले में आरोपी वेंकटेश हुआ सरेंडर, माता-पिता से भी हो रही पूछताछ

आरोपी वेंकटेश के पिता को थाने ले जाती हुई पुलिस  - Sakshi Samachar

सिद्दीपेट : जिले के गजवेल में बैंक कर्मचारी दिव्या के हत्या मामले में फरार संदिग्ध आरोपी वेंकटेश गौड़ ने आखिरकार वेमुलवाड़ा पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। वेंकटेश की धरपकड़ के लिए पांच पुलिस टीमें गठित की गई थीं। हालांकि इस हत्या की वजह प्रेम प्रसंग बताया जा रहा है।

इससे पहले दिव्या हत्या मामले में पूछताछ के तहत संदिग्ध वेंकटेश के माता-पिता को पुलिस ने वेमुलवाड़ा में हिरासत में लिया और बाद में उन्हें गजवेल भेज दिया जहां वेंकटेश से जुड़ी पूरी जानकारी हासिल की।

वेंकटेश के पिता ने बताया कि वेंकटेश और दिव्या जब पांचवीं और छठी कक्षा में पढ़ रहे थे तभी दोनों ने उन्होंने एक-दूसरे से प्यार किया था। ज्योतिष्मति कॉलेज में दोनों ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की। हैदराबाद में जब कोचिंग लेने गए थे तभी उन्होंने शादी कर ली। परंतु उस वक्त दिव्या के माता-पिता ने उसके लापता होने की शिकायत सनतनगर थाने में की थी।

दिव्या के माता-पिता की शिकायत के बाद दिव्या और वेंकटेश थाने पहुंचे और उनकी शादी की तस्वीरें भी दिखाई। बाद में दिव्या का मन बदलने में सफल उसके माता-पिता ने अक्टूबर 2018 में एल्लारेड्डीपेट थाने में वेंकटेश द्वारा दिव्या को प्रताड़ित करने की शिकायत की।

पुलिस ने दोनों को थाने बुलाया और उनकी काउंसलिंग की। पुलिस के वेंकटेश को दिव्या के पास नहीं जाने की चेतावनी देने के बाद वेंकटेश के माता-पिता ने इस बाबत पुलिस को एक लिखित पत्र भी सौंपा दिया।

इसे भी पढ़ें :

साइनाइड की मटन मिस्ट्री, महिला की करतूत जानकर रह जाएंगे हैरान

परशुराम गौड़ ने कहा कि उनका बेटा वेंकटेश लाश को देखने से ही डरता है और ऐसा व्यक्ति किसी की हत्या कैसे कर सकता है? इस बीच, दिव्या की लाश का पोस्टमार्टम पूरा कर लिया गया। परंतु मृत युवती के माता-पिता उन्हें इंसाफ होने तक लाश को वहां नहीं हटाने की जिद्द पर अड़ गए थे।

आपको बता दें कि दिव्या का इसी महीने की 26 तारीख को संदीप नामक युवक से शादी होनी थी।

Advertisement
Back to Top