इंद्रवेल्ली : तेलंगाना में गिरीजनों का प्रसिद्ध उत्सव नागोबा जातरा शुक्रवार रात से आरंभ हुआ है। नागोबा जातरा आधिकारिक रूप से 27 जनवरी और अनाधाकारिक रूप से 30 जनवरी तक जारी रहेगा। जिले के इंद्रवेल्ली मंडल परिधि के केसलापुर गांव में मेस्रम वंशजों ने पवित्र गंगा जल के साथ जातरा में भाग लिया। मेश्रम वंशजों ने पवित्र नागोबा का जलाभिषेक किया। मेश्रम वंश की बहुओं ने विशेष पूजा अर्चना की।

नागोबा जातरा में आदिलाबाद जिले के केसलापुर में आयोजित नागोबा जातरा में हर साल तेलंगाना, आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ के अलावा अनेक प्रांतों से बड़ी संख्या में गिरीजन आते हैं। इस बार भी बड़ी संख्या में गिरीजन भाग लेने की उम्मीद हैं।

नागोबा जातरा में भक्तों की भीड़
नागोबा जातरा में भक्तों की भीड़

भक्तों को किसी प्रकार की असुविधा न हो इसके लिए जिला प्रशासन ने व्यापक व्यवस्था की है। दूसरी ओर पुलिस ने किसी प्रकार की अप्रिय घटनाओं को रोकने के लिए बड़े पैमाने पर बंदोबस्त किया है।

उल्लेखनीय है कि पिछले साल लंबाड़ा समूह और गिरीजनों के बीच आदिलाबाद जिले में अनेक जगहों पर हिंसक घटनाएं घटी है। इसके चलते पुलिस ने नागोबा जातरा के आने जाने रास्तों पर कड़ी नजर रखी है। असमाजिक तत्व जातरा में प्रवेश न कर पाये इसके लिए साधे कपड़ों में पुलिस को तैनात किया गया है।

नागोबा मंदिर में विशेष पूजा करती गिरीजन कल्याण विभाग की आयुक्त क्रिस्टिना चोंग्त्सु (फाइल फोटो)
नागोबा मंदिर में विशेष पूजा करती गिरीजन कल्याण विभाग की आयुक्त क्रिस्टिना चोंग्त्सु (फाइल फोटो)

दूसरी ओर नागोबा जातरा में भाग लेने वाले भक्तों के लिए भोजन की खास व्यवस्था की है। इसी दौरान भगवान को नैवेद भी तैयार किया जाएगा। 27 जनवरी को दरबार का आयोजन किया जाएगा।