निर्मल: एमआईएम के विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी मंगलवार को निर्मल अदालत में पेश हुए। उन पर हिंदू देवी-देवताओं पर विवादित टिप्पणी करने का आरोप लगाया गया।निर्मल की ही एक रैली में बोलते हुए एमआईएम विधायक अकबरुद्दीन ने हिंदू देवताओं पर विवादित टिप्पणी की थी जिसका केस चल रहा है।

इस मामले की सुनवाई कर रही अदालत में उपस्थित अकबर ने न्यायाधीश से मामले को हैदराबाद अदालत में स्थानांतरित करने के लिए कहा।

निर्मल अदालत में अकबर के आने से बड़ी संख्या में एमआईएम कार्यकर्ता और अल्पसंख्यकों की भीड़ लग गई थी। इसके परिणामस्वरूप निर्मल कोर्ट के आसपास पुलिस द्वारा भारी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी।

इसी मामले के चलते 2013 में अकबरुद्दीन ओवैसी 38 दिन तक जेल में भी रहे। उसके बाद उन्हें जमानत पर रिहा किया गया था।

इसे भी पढ़े

नागरिकता संशोधन बिल को लेकर भड़के असदुद्दीन ओवैसी, शाह की ऐसे कर दी हिटलर से तुलना

बहस के दौरान ओवैसी ने फाड़ी नागरिकता संशोधन बिल की कॉपी , कहा- एक और बंटवारा होने जा रहा

आदिलाबाद की प्रथम अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश की अदालत ने जमानत देते हुए ओवैसी को सख्त निर्देश दिया था कि वह निर्मल टाउन इलाके में किसी सार्वजनिक सभा में हिस्सा नहीं लेंगे।