हैदराबाद : पूरे देश को हिलाकर रखने वाले दिशा हत्याकांड मामले में एक और महत्वपूर्ण सबूत सामने आया है। पिछले महीने की 27 तारीख की रात चार आरोपियों ने वेटरनरी डॉ. दिशा के साथ गैंगरेप कर बाद में उसकी निर्मम हत्या कर दी थी। इस घटना के बाद आरोपी चटानपल्ली में जहां घटना घटी थी, वहीं पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारे गए।

दिशा का गैंगरेप वह हत्या और आरोपियों का एनकाउंटर से देशभर में खलबली मचने के मद्देनजर इस घटना से जुड़ा एक महत्वपूर्ण वीडियो सामने आया है। इसी वीडियो के आधार पर पुलिस ने दिशा हत्याकांड का पर्दाफाश कर आरोपियों की पहचान की थी। पुलिस ने पाया था कि 27 नवंबर की रात 10.28 बजे आरोपी तोंडुपल्ली टोलगेट के पास से गुजरी एक लॉरी में दिशा की लाश को ले गए थे। टोलगेट के पास लगे सीसीटीवी कैमरों में लॉरी के टोलगेट के पास से गुजरने के दृश्य कैद हुए हैं।

दरअसल उस दिन क्या हुआ था...

गौरतलब है कि पुलिस ने बताया था कि तोंडुपल्ली टोलप्लाजा के पीछे स्थित खुली जमीन में आरोपियों ने दिशा का गैंगरेप कर बाद में उसकी हत्या की थी। 27 नवंबर की रात 10 बजे के बाद आरोपियों ने दिशा की हत्या की और बाद में लाश को चादर में लिपटने के बाद उसपर केरोसिन डालकर उसे आग लगा दी।

इसे भी पढें :

जानिए कैसे हुई प्रियंका रेड्डी की हत्या, हैदराबाद का सनसनीखेज कांड

इस घटना में दिशा की लाश करीब 70 फीसदी जल गई थी। बाद में शव को एक लॉरी में लादकर घटनास्थल से करीब 30 किलो मीटर दूर ले जाया गया। इसी दौरान लॉरी के टोलगेट के पास से गुजरने के दौरान वहां लगे सीसीटीवी में उसके दृश्य कैद हो गए। आरोपियों की लॉरी का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है।