हैदराबाद : दिशा हत्याकांड के आरोपियों के एनकाउंटर के मद्देनजर राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग (एनएचआरसी) के प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार शाम नगर के एक निजी अस्पताल में भर्ती पुलिसकर्मियों से भेंट की। आयोग के प्रतिनिधियों ने नगर के केयर अस्पताल में नंदीगामा के एसआई वेंकटेश्वरुलु और कांस्टेबल अरविंद गौड़ से मुलाकात कर उनका बयान दर्ज किया।

चटानपल्ली के पास हुए एनकाउंटर में दिशा हत्याकांड के आरोपी मारे गए थे और आरोपियों के हमले में ये दोनों पुलिसकर्मी घायल हुए थे। वेंकटेश्वरुलु और अरविंद गौड़ का 6 दिसंबर से केयर अस्पताल में इलाज चल रहा है। एनएचआरसी टीम ने उनसे करीब आधे घंटे तक पूछताछ कर जरूरी जानकारी जुटाई।

एनएचआरसी अब तक दिशा के परिवार, एनकाउंटर में मारे गए आरोपियों के परिजनों का बयान रिकॉर्ड करने के अलावा घटनास्थल से जरूरी सबूत जुटा चुकी है। आरोपियों के परिजन एनएचआरसी से बता चुके हैं कि उन्होंने गलती करने वाले अपने बच्चों को सजा देने को कहा था, लेकिन पुलिस ने उन्हें मार दिया है। इसके अलावा एनएचआरसी के प्रतिनिधियों ने दिशा के माता-पिता और बहन को तेलंगाना पुलिस अकादमी तलब कर उनका बयान भी रिकॉर्ड किया है।

इसे भी पढ़ें :

दिशा हत्याकांड से जुड़ा एक और सबूत आया सामने, वायरल हो रहा यह Video

प्रियंका रेड्डी हत्याकांड पर पुलिस का खुलासा, आरोपियों ने ऐसे दिया वारदात को अंजाम

चटानपल्ली के पास हुए एनकाउंटर में मारे गए चारों युवकों के शवों को गांधी अस्पताल में सुरक्षित रखने के लिए चार फ्रीजर बॉक्स तैयार किए गए हैं। इसके लिए गांधी अस्पताल के मुर्दाघर में विशेष व्यवस्था की गई है। सुरक्षा के मद्देनजर देर रात शवों को गांधी अस्पताल भेजे जाने की संभावना है। गौरतलब है कि हाईकोर्ट ने आरोपियों के शवों को अगले शुक्रवार तक गांधी अस्पताल में सुरक्षित रखने का आदेश दिया है।