हैदराबाद : उपराष्ट्रपति वेंकय्या नायडू ने कहा कि नैतिक मूल्य समाज ही अपराध की घटनाओं पर रोक लगाया जा सकता है। उपराष्ट्रपति ने शुक्रवार को जुबली हिल्स स्थित मर्रि चेन्नारेड्डी मानव संसाधन विकास संस्था में आयोजित 94वें इंडिया सर्विस, सेंटर सिविल सर्विस ऑफिसर्स संस्था पाठ्यक्रम के समापन कार्यक्रम में यह बात कही।

उन्होंने आगे कहा कि हाल ही में घटित घटनाओं को देखकर दु:ख हो रहा है। नये कानून ले आने से मात्र समस्याओं का हल नहीं होगा। जब तक लोगों में परिवर्तन नहीं आएगा तब तक कानून इस समाज को प्रभावित नहीं कर पाएंगे।

वेंकय्या नायडू ने कहा कि भारतीय संस्कृति बहुत पूरानी और नैतिक मूल्यवान है। आज ऐसी नैतिक मूल्यवान संस्कृति को छोड़ देने के कारण ही समाज में अनेक समस्याएं उत्पन्न हो रही है। समाजा में परिवर्तन आना जरूर है। अपराध और बलात्कार जैसी घटनाएं कम होना जरूरी है। प्रकृति और नैतिक संस्कृति हमारा भविष्य है। दुनिया में हमें इसी नैतिक संस्कृति के कारण ही सम्मान दि जा रहा है। इस बात को ध्यान में रखते हुए नैतिक संस्कृति को हमें कभी नहीं छोड़ना चाहिए।

इसे भी पढ़ें :

‘सुधरी बहुपक्षीय व्यापार व्यवस्था’ लागू करने की जरूरत : नायडू

वेंकय्या नायडू ने कहा, राष्ट्र विकास में निजी क्षेत्र की भूमिका महत्वपूर्ण